वकील ने वापस लिया कंगना रनौत के खिलाफ राजद्रोह केस दर्ज करवाने का पिटिशन

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 05:30 PM IST
  • आगरा के वकील नरेंद्र सोनी ने बताया अभिनेत्री कंगना पर राजद्रोह का मामला के लिए पैटिशन को वापिस लिया गया है. मामले में मजबूत साक्ष्य जुटाकर प्रार्थना-पत्र को दोबारा से किया प्रस्तुत किया जाएगा.
कंगना रनौत (फाइल फोटो)

आगरा. बॉलीवुड की सबसे चर्चित अभिनेत्रियों में से एक कंगना रनौत पर मुकदमा दर्ज कराने की पिटिशन को अधिवक्ता नरेंद्र सोनी ने वापिस ले लिया है. अधिवक्ता नरेंद्र सोनी ने अभिनेत्री के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने के लिए अदालत में पिटिशन दिया था जिसकी सुनवाई मंगलवार को की गई थी. अधिवक्ता का आरोप था कि कंगना ने जाति को लेकर भावनाएं भड़काने का काम किया है.

जानकारी है कि भीमनगर जगदीशपुरा के रहने वाले एडवोकेट नरेंद्र सोनी ने अदालत में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया. इसके अनुसार कंगना ने इंटरनेट के माध्यम से जानकारी मिली है कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने अपने अधिकारिक ट्वीटर एकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा था कि ‘आधुनिक भारतीयों द्वारा जाति व्यवस्था को अस्वीकार कर दिया गया है, छोटे शहरों में हर कोई जानता है कि कानून के तहत यह स्वीकार नहीं है और फिर कुछ लोगों को खुश करने के लिए यह शर्मनाक तरीका है, सिर्फ हमारे संविधान में आरक्षण के रुप में इसको बरकरार रखा है’. 

 

नरेंद्र सोनी ने बताया अभिनेत्री कंगना जो राजद्रोह का मामला दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र को वापिस लिया गया है. मामले में मजबूत साक्ष्य जुटाकर पिटिशन को दोबारा से किया प्रस्तुत किया जाएगा. प्रार्थी नरेंद्र सोनी ने कंगना रनौत पर आरोप लगाया है कि कंगना का ट्विट संविधान को अपमानित और जाति विशेष की भावनाओं को भड़काने वाला है. जिसके चलते अदालत ने छह अक्टूबर को थाना न्यू आगरा से प्रार्थना पत्र तलब किया था. 

प्रशासन की लापरवाही, अकबर के मकबरे में सियार ने किए काले हिरण के चिथड़े

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें