आगरा

ताजनगरी की और बढ़ी शान, कार रेसर शहान मोहसिन अली अर्जुन अवार्ड के लिए नामित

Smart News Team, Last updated: 03/06/2020 06:40 PM IST
  • कहते हैं प्रतिभा और सफलता किसी उम्र का मोहताज नहीं होती। 15 साल के एक युवा ने अपने टैलेंट के दम पर वह कर दिखाया है, जो आज तक देश में इतनी कम उम्र में कोई नहीं कर पाया है। दरअसल, आगरा के युवा कार्टिंग और कार रेसर शाहान अली मोहसिन ने अर्जुन पुरस्कार का नामांकन हासिल कर बड़ा इतिहास रच दिया है।
Shahan Ali Mohsin (File Photo)

कहते हैं प्रतिभा और सफलता किसी उम्र का मोहताज नहीं होती। 15 साल के एक युवा ने अपने टैलेंट के दम पर वह कर दिखाया है, जो आज तक देश में इतनी कम उम्र में कोई नहीं कर पाया है। दरअसल, आगरा के युवा कार्टिंग और कार रेसर शाहान अली मोहसिन ने अर्जुन पुरस्कार का नामांकन हासिल कर बड़ा इतिहास रच दिया है। खास बात यह है कि रेसर शाहान मोहसिन ने यह कारनामा महज 15 साल की उम्र में कर दिखाया है। यह मोहसिन का टैलेंट ही है कि फेडरेशन ऑफ मोटर स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया ने उनका नाम अर्जुन पुरस्कार के लिए खेल मंत्रालय को भेजा है।

शाहान देश के ऐसे पहले रेसर

कार रेसर शाहान देश के पहले ऐसे कर्टिंग ड्राइवर हैं, जिनको अर्जुन पुरस्कार का नामांकन मिला है। शाहान ने पिछले चार साल में मलेशिया में हुई एशियन मैक्स कार्टिंग चैम्पियनशिप में बहुत सारी पोडियम फिनिश के साथ एशियन चैम्पियनशिप जीत भारत का नाम रोशन किया था। इसके अलावा शाहान ने ऑस्ट्रिया में हुई रोटेक्स ग्रांड फेस्ट व रोटेक्स सेंट्रल यूरोपियन चैम्पियनशिप में भी पोडियम फिनिश हासिल किया था। बता दें किअर्जुन अवार्ड पिछले चार साल की अंतर्राष्ट्रीय उपलब्धियों के आधार पर मिलता है।

साल 2019 में इटली में रोटेक्स ग्रैंड (Rotax Grand) फाइनल (जिसे कार्टिंग का ओलंपिक कहा जाता है) में शाहान ने टॉप 10 में क्वालीफाई करके भारत के पहले ड्राइवर बनने का गौरव हासिल किया। इसी इवेंट में उन्होंने हीट्स में चौथा और सातवां स्थान प्राप्त किया जो भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

Shahan ali mohsin of Agra

 

महज 11 साल की उम्र में शुरू की रेसिंग

शाहान के पिता शाहरू मोहसिन कहते हैं कि शाहान ने महज 11 साल की उम्र में नेशनल कार्टिंग चैम्पियनशिप में हिस्सा लेना शुरू कर दिया था। अपनी कैटेगरी में कई बार नेशनल चैम्पियन बनने के बाद शाहान ने विदेशों में भी भारत का झंडा बुलंद किया। दिल्ली पब्लिक स्कूल के छात्र शाहान अपने नामांकन से काफी गदगद हैं।

पुरस्कार मिला तो सपना होगा सच

अर्जुन पुरस्कार का नामांकन हासिल करने के बाद शाहान ने कहा कि उन्हें पुरस्कार मिलता है तो यह उनके सपने सच होने के साथ-साथ भारत में कार्ट व कार रेसिंग के प्रति लोगों का नजरिया बदलेगा और उसे लोकप्रिय बनाएगा।

शाहान सहित तीन हैं नामांकित

फेडरेशन ऑफ मोटर स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया यानी एफएमएससीआई ने साल 2020 में अर्जुन पुरस्कार के लिए शाहान अली मोहसिन के साथ-साथ रेसर सीएस संतोष व ऐश्वर्या पिस्सेय का भी नामांकन भेजा है। इन तीनों रेसर में शाहान उम्र में सबसे छोटे हैं। हाल के सालों में अर्जुन पुरस्कार के लिए 15 साल के किसी खिलाड़ी का नामांकन इससे पहले नहीं देखा गया है।

दीप्ति के बाद शाहान का भी नामांकन

शाहान मोहसिन से पहले इसी साल अर्जुन पुरस्कार के लिए बीसीसीआई ने आगरा की क्रिकेटर बेटी दीप्ति शर्मा का नाम खेल मंत्रालय को भेजा है। एक साल में आगरा शहर से दो अलग-अलग खेलों में दो खिलाड़ियों का अर्जुन पुरस्कार के लिए नामांकन भी अपने आप में रिकॉर्ड है और आगरावासियों के लिए गर्व की बात।

अन्य खबरें