आगरा चांदी चोरी का खुलासा, पुराने कारीगर ने किया था 19 किलो माल साफ, 2 अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 03:09 PM IST
  • आगरा में 19 किलोग्राम चांदी की चोरी में पुलिस ने दो पुराने कारीगरों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने 24 घंटे में मामले का खुलासा कर माल भी बरामद कर लिया है.
आगरा में चांदी चोरी मामले में दो कारीगरों को अरेस्ट किया गया है.

आगरा. आगरा के कोतवाली क्षेत्र में पुलिस ने 19 किलोग्राम चांदी चोरों को पकड़ लिया. पुलिस ने पूरा माल बरामद करने के वारदात का खुलासा किया है. दो पुराने कारीगरों ने चांदी की पाजेब के कारखाने में चोरी की थी. चोरी करने के बाद चोर चांदी को बेचना चाहते थे लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और पूरा माल बरामद कर लिया. सोमवार को आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है.

चांदी की पाजेब कारखाने के मालिक ने पुलिस को बताया कि शनिवार को कारखाना पहुंचने पर 19 किलोग्राम चांदी का बैग अलमारी से गायब मिला. जिसके बाद पुलिस ने व्यापारी के लेखे जोखे की जांच कर अज्ञात चोर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया. कारखाने के मालिक विजय कुशवाह जगदीशपुरा के नजला गूलर के निवासी हैं जो कोतवाली क्षेत्र में चांदी की पायल बनाने का कारखाना चलाते हैं. 

आगरा: चंबल नदी में डूबी महिला को मगरमच्छ के खींच ले जाने की आशंका

घटनास्थल की जांच के बाद पता चला कि घटना के समय कोई भी बाहर से अंदर नहीं आया था वारदात को अंजाम किसी अंदर वाले ने दिया है. इसके बाद पुलिस ने कारीगरों की सूची के साथ सभी से पूछताछ की. तभी पहले काम करने वाले दो कारीगरों पर शक गया. वे दोनों वर्तमान में उसी भवन में कारखाना मालिक के भाई के कारखाने में काम करते थे. दोनों से अलग पूछताछ करते हुए कहा गया कि उनके खिलाफ चांदी चोरी में अहम सुराग मिले हैं. झूठ तब पकड़ा गया जब दोनों के जवाब अलग मिले. पुलिस सख्ती पर दोनों कारीगरों ने चोरी कबूल कर ली. चोरों में हरदेव कुशवाह प्रेम नगर जगदीशपुरा और सोनू कुशवाह हरी पर्वत क्षेत्र के गांधी नगर के निवासी है. 

आगरा में मजदूरों से भरे ट्रैक्टर की हुई डीसीएम से टक्कर, परिचालक सहित 10 घायल

यह मामला सिटी एसपी बोत्रे रोहन प्रमोद के संज्ञान में था. चोरी का 24 घंटे के भीतर खुलासा करने वाली टीम में इंस्पेक्टर कोतवाली सुनील कुमार, एसआई दिनेश कुमार, एसआई जितेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबल महेश चंद और कॉन्स्टेबल स्वदेश थे. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें