बेटे को नहीं मिली एम्बुलेंस, कार की छत पर पिता का शव बांधकर पहुंचा श्मशान घाट

Smart News Team, Last updated: Mon, 26th Apr 2021, 3:17 PM IST
  • आगरा में बेटे को पिता का शव श्मशान घाट ले जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं मिला तो उसने शव को कार की छत पर बांधकर वहां पहुंचा. वही पिता के शव को कंधा देने के लिए पडोसी तो छोड़िए रिश्तेदार भी नहीं पहुंचे.
बेटे को नहीं मिली एम्बुलेंस, कार की छत पर पिता का शव बांधकर पहुंचा श्मशान घाट

आगरा. कोरोना महामारी के कारण लगातार लोगों की मौत का सिलसिला जारी है. वही इस समय स्वास्थ्य विबहग की नाकामी भी देखने को मिल रही है. वही इस कोरोना माहमारी में मरने पर रिश्तेदार तो छोड़िए पड़ोसी भी शव को कंधा देने नहीं आ रही है. वही ऐसा ही कुछ मामला आगरा में देखने को मिला. जहां पर एक बेटे ने पीने पिता के मौत के बाद उनके शव को कार के छत पर बांधकर श्मशान घाट लेकर पहुंचा. वही उसे श्मशान घाट ले जाने के लिए एम्बुलेंस तक मुहैया नहीं कराई गई. 

जानकारी के अनुसार आगरा में एक शख्स के पिता की मौत कोरोना से हो गई. वही पिता की मौत के बाद पुत्र ने घण्टो एम्बुलेंस और लोगों का इंतेजार पिता की अंतिम यात्रा के लिए किया, लेकिन कोई भी शव को कंधा देने के लिए उसके यहां पर नहीं पहुंचा. जिसके बाद बेटे ने खुद ही पिता की अर्थी तैयार की और खुद ही उसे अपनो कार के छत पर बांधा. उसके बाद वह अपने पिता के शव को लेकर वैकुण्ठधाम पहुंचा. 

बोकारो से लखनऊ पहुंची ऑक्सीजन की दूसरी खेप, एक्सप्रेस के लिए बना ग्रीन कॉरिडोर

वही जब वह श्मशान घाट पहुंचा तो वहां पर अकेले पिता के शव को कार से उतरते देख लोगों की आंखे नम हो गई. बेटे ने खुद पिता के शव को श्मशान घाट पर भी कार से शव को नीचे उतारा और अकेले ही अंतिम संस्कार की प्रक्रिया को पूरी किया. यह दृश्य देख वहां मौजूद लोगों की आंखे नम हो गई.

यूपी में कोरोना से मरने वालों का मुफ्त में होगा अंतिम संस्कार, योगी सरकार का फैसला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें