पिता को सबक सिखाने चला बेटा, रची अपहरण की साजिश

Smart News Team, Last updated: 04/11/2020 09:48 PM IST
  • आगरा से सटे फिरोजाबाद में छात्र के अपहरण को लेकर पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया है. दरअसल, पुलिस की पूछताछ में यह सामने आया है कि सिरसागंज में स्थित हैवतपुर के निवासी 17 वर्षीय ऋषि का अपहरण नहीं हुआ था, बल्कि उसने अपने ही अपहरण का नाटक रचा था.
लड़के ने किया खुदका किडनैप

आगरा: आगरा से सटे फिरोजाबाद में कुछ दिनों पहले एक छात्र के अपहरण का मामला सामने आया था. लेकिन हाल ही में पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया है. दरअसल, पुलिस की पूछताछ में यह सामने आया है कि सिरसागंज में स्थित हैवतपुर के निवासी 17 वर्षीय ऋषि का अपहरण नहीं हुआ था, बल्कि उसने अपने ही अपहरण का नाटक रचा था. पुलिस की कार्रवाई में सामने आया है कि छात्र ने यह कदम पिता से नाराज होने के बाद उठाया था.

इस बारे में बात करते हुए एसपी राजेश कुमार ने बताया कि पुलिस ने छात्र से मामले को लेकर पूछताछ की थी, जिसमें 17 वर्षीय छात्र ने बताया कि उसके पिता संजय कुमार आए दिन उससे से खेत पर काम करने के लिए कहते थे. छात्र ने बताया कि घटना वाले दिन भी उसके पिता ने चेतावनी देते हुए कहा था कि यदि तुम लोग कोई काम-धाम नहीं करोगे तो कहीं जाकर मैं बाबा बन जाऊंगा. पिता की इस बात से वह छात्र नाराज हो गया और अपने घर से चला गया. 

दीपावली से पहले ताजनगरी आगरा में माहौल बिगाड़ने के लिए रची गई साजिश

एसपी ने इस बारे में बताया कि घर से भागने के बाद ऋषि सिरसागंज बाईपास पर ही घूमता रहा.

एसपी ने छात्र के अपहरण के बारे में बात करते हुए कहा कि वह टेंपो में बैठकर मीठेपुर के पास एक्सप्रेस वे के पास चला गया था. वहां पहुंचकर उसने अपने अपहरण की सूचना राहुल के मोबाइल पर दी थी और इसके बाद उसने (ऋषि) उसने फोन बंद कर लिया था. पुलिस ने बताया कि ऋषि ने अपने अपहरण की कहानी पिता को सबक सिखाने के लिए किया था. इससे वह परेशान हो जाएं और भविष्य में खेत में काम करने की बात उससे कभी न कहें. वहीं, पूछताछ के बाद ही एसपी ने बताया छात्र को परिजनों को सुपुर्द कर दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें