ताजनगरी में कोरोना का दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन मिला, 3 मरीज संक्रमित, हड़कंप मचा

Smart News Team, Last updated: Sat, 27th Mar 2021, 6:34 PM IST
  • ताजनगरी आगरा में कोरोना के अफ्रीकी स्ट्रेन का पता चला है. कोविड19 के अफ्रीकी स्ट्रेन से तीन लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं.
ताजनगरी में कोरोना का दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन मिला, 3 मरीज में संक्रमण, हड़कंप मचा (प्रातकात्मक तस्वीर)

आगरा: अभी लोग कोरोना के चीनी और यूरोपियन स्ट्रेन से लड़ ही रहे थे की ताजनगरी आगरा में कोरोना के अफ्रीकी स्ट्रेन का पता चला है. कोविड19 के अफ्रीकी स्ट्रेन से तीन लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं. संक्रमण फैलने की दोगुनी रफ्तार की वजह से अफ्रीकी स्ट्रेन ज्याद खतरनाक माना जा रहा है. आगरा के सीएमओ ने भी इस बात की पुष्टि की है कि आगरा से सात सैंपल जांच के लिए लखनऊ केजीएमयू भेजे गए थे जिनमें से तीन में अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन की पुष्टि हुई है.

मिली जानकारी के अनुसार मथुरा में भी एक मरीज में अफ्रीकी कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. आगरा में भी एक अज्ञात स्ट्रेन मिला है जिस पर शोध किया जा रहा है. एक नए शोध में पता चला है कि दक्षिण अफ्रीका का स्ट्रेन एंटीबॉडीज को धोखा दे सकता है. यही वजह है कि साउथ अफ्रीका में 48 फीसदी मरीज कोरोना से ठीक होने के बाद दोबारा कोरोना पॉजिटिव हुए हैं. आगरा में अफ्रीकी स्ट्रेन के जो मरीज पाए गए हैं इसकी जानकारी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) को भी भेजी गई है.

लखनऊ : होली के रंगों से सजा बाजार, जानें इस बार क्या है खास

कोरोना के पहले स्ट्रेन से संक्रमित होने की खबरें 2020 जनवरी में आनी शुरु हुई. इसके रोकथाम में स्वास्थ विभाग को सफलता मिली और इसी स्ट्रेन पर भारत में टीका भी बनाया गया जो अत्यंत कारगर साबित हो रहा है. साउथ अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन के बारे में बताया जा रहा है कि यह पहले वाले स्ट्रेन के मुकाबले दोगुनी तेजी से लोगों को संक्रमित करता है. इसका इलाज भी पहले स्ट्रेन की तरह ही किया जा रहा है. इसके मरीज भी स्वस्थ हो चुके हैं.

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, मुख़्तार अंसारी को पंजाब जेल से यूपी शिफ्ट किया जाए

आगरा से संक्रमितों के जो सैंपल लखनऊ भेजे गए थे उसमें एक अज्ञात स्ट्रेन भी पाया गया है. इसके बारे में डॉक्टरों का कहना है कि यह अपने इस स्पाइक प्रोटीन को बदलने में माहिर है. इस पर वैक्सीन के असर और संक्रमण की रफ्तार का अध्ययन किया जा रहा है.

UP पंचायत चुनाव 2021 तारीख: 3 अप्रैल से नामांकन, 15 अप्रैल से मतदान, 2 मई को मतगणना

अफ्रीकन स्ट्रेन कैसे फैला ?

आगरा के जिन मरीजों में दक्षिण अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन पाए गए हैं उसमें कमला नगर निवासी एक युवती दक्षिण अफ्रीका से यात्रा कर के लौटी थी. बुखार होने पर जब उसने अपनी जांच करवाई तो पता चला कि उसे कोरोना संक्रमण है. इसके बाद वो अस्पताल में भर्ती हुई थी और अब ठीक हो चुकी है. इसके अलावा एक 12 वर्षीय लड़का और 53 साल का बैंककर्मी भी अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन की चपेट में आया है. बताया जा रहा है कि इसमें लोग आसानी से ठीक हो जा रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें