आगरा STF ने 505 किलो गांजा पकड़ा, 3 तस्कर अरेस्ट, बहुत चालाकी से था छुपाया

Smart News Team, Last updated: Sun, 13th Sep 2020, 11:13 AM IST
  • आगरा एसटीएफ को शनिवार को जानकारी मिली की एक पेट्रोल टैंकर में बड़ी मात्रा में गांजे की तस्करी की जा रही है. जिसके बाद ताजनगरी के सिकंदरा क्षेत्र में पुलिस ने 505 किलो गांजे के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है.
आगरा STF ने 505 किलो गांजा पकड़ा.

आगरा. ताजनगरी के सिकंदरा क्षेत्र में एसटीएफ ने शुक्रवार देर रात अपने विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर पेट्रोल टैकंर में से 505 किलोग्राम गांजा पकड़ा है. इस तस्करी में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के अनुसार यह माल लाखों का है. तीनों तस्करों में से कोई यूपी का रहने वाला नहीं है. जानकारी के मुताबिक वह माल को मथुरा सप्लाई करने के लिए जा रहे थे. 

पुलिस ने बताया कि तीनों तस्कर जिनमें से प्रशांत कुशवाह बरहन गांव का रहने वाला है, दूसरा रामेश्वर मीणा भरतपुर से है और तीसरा रघुवेंद्र सिंह भरतपुर के चिकसाना से है. इनके खिलाफ आगरा के सिकंदरा थाने में एनडीपीएस के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.  

आगरा: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले BJP प्रदेश अध्यक्ष ने संगठन की टटोली नब्ज

तीनों तस्करों से से पूछताछ के बाद चला कि गांजा मथुरा के दो ड्रग्स पैडलर ने मंगाया था. यह माल मथुरा के बल्देव में रहने वाले रविंद्र और ध्रुव जाट के यहां पहुंचाना था. इसके लिए हमें 50 हज़ार से एक लाख रुपये मिलते हैं. उड़ीसा से यह माल दो से तीन हजार रुपये किलोग्राम में खरीदकर मथुरा के ब्रज में 10 हजार से 15 हजार किलोग्राम में ‌बेचा जाता है. 

आगरा में लव जिहाद, नाम हिंदू बताकर प्यार में फंसाया, शादी के बाद धर्म बदला

चेकिंग के दौरान सिकंदरा क्षेत्र में गांजे से भरा एक पेट्रोल टैंकर मिलता है. गांजा प्लास्टिक के पैकेट में छुपाकर टैंकर में रखा था ताकि किसी को पता न चल सके. तीनों आरोपियों ने कहा कि उनका काम माल लेना और जहां उसे मंगाया गया है वहां तक पहुचांना था. बल्देव और रविंद्र की तलाश पुलिस कर रही है. इनको पकड़ने के बाद पता चलेगा कि गांजा तस्करी में और कौन-कौन शामिल है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें