वीडियो कॉल में फंसाकर ऐंठे पैसे, तीन लोग बने साइबर अपराध का शिकार

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 04:19 PM IST
  • आगरा में साइबर अपराधियों द्वारा वीडियो कॉल कर लोगों को फंसाने का मामला सामने आया है. शहर के दो व्यापारी और एक बैंककर्मी को वीडियो कॉल कर शिकार बनाया गया. वहीं, अपराधियों ने बैंककर्मी से 35 हजार रुपये की ठगी भी की.
वीडियो कॉल में फंसाकर ऐंठे पैसे, तीन लोग बने साइबर अपराध का शिकार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आगरा में साइबर अपराधियों द्वारा वीडियो कॉल के जरिए लोगों को फंसाने का मामला सामने आया है. आगरा में अब तक शहर के दो व्यापारी और एक बैंककर्मी वीडियो कॉल के जरिए साइबर अपराध का शिकार बन चुके हैं. वहीं, अपराधियों ने केवल बैंककर्मी से ही करीब 35 हजार रुपये की ठगी की है. बताया जा रहा है कि वो लड़कियों के नाम से व्हाट्सएप पर दोस्ती का संदेश भेजते हैं. इसके बाद वह लड़की के माध्यम से न्यूड वीडियो कॉल कराते हैं. इस दौरान ही लोगों को भी झांसे में लेकर न्यूड करा लेते हैं. किसी सॉफ्टवेयर के जरिए उनका वीडियो भी रिकॉर्ड करा लेते हैं.

साइबर अपराधी वीडियो वायरल करने की धमकी देकर रुपयों की मांग करते हैं. वहीं, आगरा में दो व्यापारी और एक बैंककर्मी के साथ की गई ठगी की शिकायत रेंज साइबर सेल में की गई है. बताया जा रहा है कि 15 दिन पहले हींग की मंडी के व्यापारी के पास व्हॉट्सएप पर मैसेज आया था. इसका जवाब देने पर व्यापारी के साथ आरोपी के साथ उसकी चैटिंग शुरू हो गई. वहीं, बातों-बातों में ही एक दिन व्यापारी को वीडियो कॉल करके न्यूड करा लिया गया. इसके बाद व्यापारी का वीडियो रिकॉर्ड कर लिया गया और धमकी देकर उससे करीब 50 हजार रुपये भी मांगे गए.

स्कूल के व्हॉट्सएप ग्रुप पर शेयर किया अश्लील वीडियो, प्रधानाचार्य ने की शिकायत

मामले को लेकर व्यापारी ने पुलिस से भी मदद की मांग की. इसके साथ ही दूसरा मामला ताजगंज क्षेत्र के एक युवक के साथ घटित हुआ, जो कि निजी बैंक में कार्यरत है. उसके पास भी इसी तरह व्हाट्सएप पर मैसेज आया था, जिसकी जाल में वह फंस गया. वीडियो वायरल करने के ननाम पर उनसे रुपयों की मांग की गई. इसके लिए उन्हें एक खाता नंबर भी भेजा गया जिसमें युवक ने रकम जमा कर दी. ऐसे में साइबर अपराधियों ने बैंककर्मी से 35 हजार रुपये ठग लिए. कुछ ऐसा ही खेल जयपुर हाउस के एक वृद्ध व्यापारी के साथ भी खेला गया और उससे एक लाख रुपये की मांग की गई थी.

डिग्री, और स्टाफ के बगैर चल रहा था हॉस्पिटल, स्वास्थ्य विभाग ने किया सील

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें