आगरा: ताज महल और आगरा किले को पर्यटकों की भीड़, लिमिट पूरी होने पर कई लौटे मायूस

Smart News Team, Last updated: Sun, 1st Nov 2020, 12:42 AM IST
  • कोरोना गाइडलाइन के बाद, ताजमहल में एक दिन में केवल 5000 लोगों को प्रवेश की अनुमति है. वही आगरा किला को एक दिन कुल 2500 लोग देख सकते हैं.
ताजमहल में लिमिट पूरी होनें पर मायूस बैठे सैलानी

ताजनगरी आगरा में शनिवार को स्मारकों की सारी टिकटें समय से पहले ही बुक होने के कारण सैकड़ों सैलानी निराश होकर वापस लौटना पड़ा. ताजमहल पर दो स्लॉटों में कुल 5000 सैलानियों के प्रवेश की अनुमति है. आगरा किला में 2500 लोगों के प्रवेश की अनुमति है. यहां पहले स्लॉट में 1200 और दूसरे में 1300 सैलानियों को प्रवेश दिया जाना होता है. लेकिन आगरा किला में दूसरा स्लॉट शाम चार बजे ही फुल हो गया. उसके बाद किसी को भी प्रवेश नहीं दिया गया.

 

शनिवार को ताजमहल में दोपहर एक बजे दूसरा स्लॉट फुल होने के बाद किसी भी पर्यटक को प्रवेश नहीं दिया गया. सैकड़ों सैलानी बिना ताज देखे ही वापस लौट गए. शनिवार को 4311 सैलानियों ने ताजमहल का दीदार किया। इनमें 4248 भारतीय पर्यटकों ने स्मारक को निहारा। इनमें 481 बच्चे भी शामिल थे. वहीं 55 विदेशी सैलानियों और आठ पर्यटक सार्क देशों के शामिल थे. मुख्य गुंबद पर 1905 सैलानी पहुंचे जिसमें 276 बच्चे भी शामिल थे.

 

कानपुर के शायर शिवम शर्मा गुमनाम का गजल संग्रह ‘परिंदे प्यार के’ का हुआ विमोचन

 

साथ ही आगरा किला में 1484 सैलानी पहुंचे. इसमें 1468 भारतीय और 14 विदेशी सैलानियों के अलावा सार्क देशों के दो पर्यटक आगरा किला को देखने पहुंचे. दूसरा स्लॉट बुक होने के बाद भी कुछ पर्यटक वहां पहुंचे, लेकिन नियमों के चलते उन्हें प्रवेश नहीं दिया जा सका. ताजमहल और आगरा किला के अलावा रामबाग में 79 भारतीय, छह विदेशी, बेबीताज में 139 भारतीय, नौ विदेशी, मेहताब बाग में 305 भारतीय, पांच विदेशी, फतेहपुरसीकरी में 492 भारतीयल चार विदेशी, 13 सार्क देशों के सैलानी, अकबर टूम को 206 भारतीय और मरियम टूम को 38 भारतीय सैलानियों ने देखने पहुंचे थें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें