ताजमहल की टिकट ऑनलाइन ही करें बुक, ब्लैक के चक्कर में पड़े तो लुटने के हैं चांस

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Oct 2020, 1:05 AM IST
  • ताजमहल आने से पहले अपनी टिकट ऑनलाइन बुक कराना ही फायदे का सौदा है. कोरोना काल में ताजमहल के खुलने के बाद से ताज की टिकटें ब्लैक में बेची जा रही हैं और सैलानियों को लूटने का धंधा चल रहा है. 
ताजमहल की टिकट ब्लैक करने वाला गिरोह सक्रिय हो गया है. ऑनलाइन टिकट बुक करना फायदेमंद.

आगरा. ताजमहल देखने जाने से पहले अपनी टिकट ऑनलाइन ही बुक कराएं जिससे आगरा में आते ही आपको लूटा ना जा सके. आगरा में इन दिनों ताजमहल की टिकट ब्लैक में बिकने लगी हैं. गुंबद की टिकट के बहाने पांच गुना तक दाम वसूले जा सकते हैं और बल्कि वह टिकट वहां तक जाने की नहीं होगी. पांच गुना दाम देकर भी ताजमहल के महत्वपूर्ण हिस्से को देखने से वंचित रह जाएंगे.

ताजमहल पर कई साल पहले भी टिकट ब्लैक में मिलती थी लेकिन बाद में इन सब पर रोक लग गई. कोरोना काल में जब ताजमहल पर पर्यटकों की संख्या निर्धारित हुए तो टिकटें ब्लैक में करने वाले फिर से सक्रिय हो गए. ताजमहल के लिए टिकट अब ऑनलाइन ही मिलती है. ऐसे में कई लोग ताज पहुंचने के बाद क्यूआर कोड स्कैन करके टिकट बुक करते हैं. इंटरनेट की स्पीड या ऑनलाइन प्रक्रिया नहीं समझ पाने वाले पर्यटकों का फायदा टिकट ब्लैक करने वाले उठा लेते हैं.

टिकट ब्लैक करने वाले पहले ही कुछ टिकटें बुक कर लेते हैं और सैलानियों को कई गुना ज्यादा पैसों में बेचते हैं. भारतीय सैलानियों की 50 रुपए की टिकट को 250 रुपए से ज्यादा में बेचा जा रहा है. वहीं गुबंद में जाने की टिकट को 500 में बेचा जाता है. विदेशी सैलानियों की टिकट को भी 11 सौ की जगह 15 सौ से 17 सौ में बेचा जाता है. वहीं गुंबद की टिकट को 2 हजार में बेच देते हैं. 

रामभक्त हनुमान की सेवा में लीन शाकिर ने बनवाया मंदिर, हर महीने करते हैं भंडारा

ताजमहल में इन दिनों कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिसमें सैलानियों को गुबंद पर जाने से रोका गया है. ये वही मामले थे जिसमें पर्यटकों ने टिकट ब्लैक में खरीदी थी. ये टिकटें मुख्य परिसर की थी लेकिन सैलानियों से पैसे गुबंद की टिकट कहकर लिए गए थे. 

अमन कमेटी के मुख्य संचालक मुनव्वर अली ने बताया कि ताजमहल की टिकटों की कालाबाजारी को जल्द से जल्द रोका जाना चाहिए. इससे आगरा और ताज दोनों की छवि खराब हो रही है.  

मोबाइल पर अनजान नंबर से आए लिंक को क्लिक करते ही फोन हैक, बैंक खाता साफ हुआ

पुरातत्वविद अधीक्षण वंसत कुमार स्वर्णकार ने कहा कि सैलानी अपनी टिकट खुद बुक करने के बाद ही ताजमहल देखने आएं. पुलिस को भी कहा गया है कि वह अपने स्तर पर ताज की टिकट ब्लैक करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करें. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें