ताजमहल में फ्री प्रवेश पर भारी भीड़ में भगदड़, कई बच्चे बिछड़े, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

Swati Gautam, Last updated: Tue, 1st Mar 2022, 10:19 PM IST
  • ताजमहल में शाहजहां का तीन दिवसीय 367वां उर्स के आखिरी दिन भारी भीड़ उमड़ पड़ी. पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को रोकने की कोशिश की तो वहां भगदड़ मच गई. इस दौरान बच्चे अपने परिजनों से बिछड़ गए कई लोगों को चोटें भी आई.
ताजमहल में फ्री प्रवेश पर भारी भीड़

आगरा. ताजमहल में शाहजहां का तीन दिवसीय 367वां उर्स मनाया जा रहा है जिसको लेकर 27, 28 फरवरी और एक मार्च को ताजमहल में सैलानियों को बिना टिकट प्रवेश मिल रहा है. इसके कारण तीसरे दिन यानी आज ताजमहल में भारी भीड़ उमड़ पड़ी. भीड़ ज्यादा होने के कारण पुलिस ने लोगों को रोकने के लिए लाठीचार्ज शुरू कर दिया. इसके बाद वहां भगदड़ मच गई और इस भगदड़ में कई लोगों को चोटें आई हैं. जानकारी अनुसार बच्चे अपने परिजनों से बिछुड़ने के बाद रोते हुए दिखे. सेंट्रल टैंक और चमेली फर्श पर तो अराजकता का आलम था.

वहीं मंगलवार को तीसरे व आखिरी दिन शाहजहां की कब्र पर 1382 मीटर कपड़े की सतरंगी चादर भी चढ़ाई गई. बढ़ती भीड़ को देखते हुए शाम को एएसआई ने दोनों गेटों से सैलानियों का प्रवेश रोक दिया. शाम पांच बजे के बाद ताज देखने आने वाले सैलानियों को रोक दिया गया. ताज न देख पाने से आक्रोशित सैलानियों ने विरोध जताते हुए नारेबाजी शुरू कर दी. पुलिस ने काफी देर तक सैलानियों को समझाने की भी कोशिश की लेकिन जब भीड़ अनियंत्रित हो गई तो पुलिस ने लाठीचार्च शुरू कर दिया. भीड़ को संभालने में पुलिस के पसीने छूट गए.

ताजमहल परिसर में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, सुरक्षाकर्मी ने युवकों को पीटा

पुलिस ने किया लाठीचार्ज

बता दें कि शाहजहां के उर्स पर हर साल आखिरी दिन इसी तरह भीड़ देखने को मिलती है. अधीक्षण पुरातत्वविद राजकुमार पटेल का कहना है कि एक लाख से ज्यादा भीड़ होने के कारण थोड़ी बहुत तो परेशानी हो ही सकती है. इतनी भीड़ को संभालने के लिए सुरक्षा बल के मात्र 500 जवान ही अंदर तैनात हैं. फिर भी कोशिश की गई कि ताजमहल के किसी भी किसी भी हिस्से को कोई किसी तरह का नुकसान न पहुंचा सके. वहीं भीड़ ज्यादा होने पर और लोगों को ताजमहल में आखिरी दिन एंट्री न मिलने पर लोगों में आक्रोश छा गया और वहां भगदड़ मच गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें