सावधान! नकली नोटों का ठिकाना बना आगरा, कहीं आपके हाथ में तो नहीं जाली नोट

Smart News Team, Last updated: 29/11/2020 09:24 AM IST
  • ताजनगरी में एटीएस ने नकली नोटों के सिलसिले में शहर में छापेमारी की है. एटीएस को बाजारो में नोटों के होने की सूचना मिली थी. 2017 में आगरा पुलिस ने एक बांग्लादेशी महिला को नकली नोटो के साथ गिरफ्तार किया था. पुलिस को शक है कही वह गैंग फिर से तो सक्रिय नहीं हो गया.
एटीएस ने आगरा में नकली नोटों के ठिकानों पर छापेमारी की है. ( प्रतीकात्मक फोटों)

आगरा: शहर में एक बार फिर से नकली नोटों के छपाई की सूचना मिल रही है. प्रदेश सरकार ने इसकी छानबीन के लिए एटीएस जिम्मा सौपा है. छह महीने में आगरा पुलिस ने 200 ऐसे अपराधियों को पुलिस पकड़ा है. जिनका पूराना कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं है. ताजनगरी में पिछलें कुछ दिनों से बाजारों में 500 और 200 के नकली नोट मिल रहे है. सूत्रो के अनुसार शहर में एक बार फिर से नकली नोटों को बाजार में चलाने वाला गैंग सक्रिय हो गया है. एटीसी ने मामले की छानबीन शुरु कर दी है.

एटीसी को गुप्त जानकारी के अनुसार आगरा में नोटों के ठिकानों होनें की सूचना मिली है. जानकारी के आधार पर टीमें शहर के अलग-अलग इलाकों में छापेंमारी कर रहे है. जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पहले पुलिस को चैकिंग के दौरान दो तरह के नकली नोट बरामद हुए थे. बर्ष 2017 में पुलिस ने आगरा से बाग्लादेशी महिला फातिमा को गिरफ्तार किया था. पूछताछ में महिला ने बताया था, कि नकली नोटों की खेप बंगाल के रास्ते भारत में आती है. पुलिस को फातिमा के पास से नकली नोटों की खेप बरामद हुए थी.

आगरा: परिवार सहित शादी में जा रहे टाइल कारोबारी पर हमला, कार से खींचकर की पिटाई

एटीसी के अधिकारियों ने बताया नकली नोटों के इस गैंग के तार फिरोजाबाद तक जुड़े हुए है. पुलिस ने बताया कि फातिमा के पास बाग्लादेशी लोग नकली नोट लेकर आया करते थे. नोटबंदी बंदी के बाद यह गैंग समाप्त हो गया था. लेकिन अब पुलिस को आंशका है कि नकली नोटों का यह गैंग फिर से संक्रिय हो गया है. आपको बता दे. कि बंगाल का मालदा शहर नकली नोटों के मामले में हमेशा चर्चा में रहता है. दो सालों मे बीएसएफ मालदा से लगे बांग्लादेश बार्डर से कई करोड़ के नकली नोट बरामद किए है.

आगरा: इंटरनेट पर शादी को ढूंढे साइबर फ्रॉड दूल्हे ने लूट लिए 2 लाख

आगरा-दिल्ली हाईवे पर चलती कार में मारी चालक को गोली, बदमाश फरार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें