Video: लड्डू गोपाल की प्रतिमा का टूटा हाथ जुड़वाने अस्पताल पहुंचे पुजारी, फिर…

Smart News Team, Last updated: Fri, 19th Nov 2021, 8:43 PM IST
  • आगरा में पुजारी कृष्ण जी की मूर्ति जिसका हाथ टूटा हुआ था उसे लेकर रोते हुए अस्पताल पहुंच गया. पुजारी ने डॉक्टर से लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने को कहा. डॉक्टर के मना करने पर वह बेसुध होकर गिर गया.
फोटो क्रेडिट- ट्विटर

आगरा. ईश्वर के प्रति श्रद्धा और विश्वास की कहानी तो आपने बहुत सुनी होगी, लेकिन उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में भगवान की अनूठी श्रद्धा की कहानी आपको हैरान कर देगी. यहां एक पुजारी कृष्ण जी की मूर्ति जिसका हाथ टूटा हुआ था उसे लेकर अस्पताल पहुंच गया. पुजारी ने डॉक्टर से लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने को कहा. पहले तो डॉक्टर को कुछ भी समझ में नहीं आया लेकिन उसके बाद फिर डॉक्टर ने पुजारी की भावनाओं को देखकर लड्डू गोपाल का इलाज करना शुरू कर दिया.

दरअसल आगरा के शाहगंज क्षेत्र में शुक्रवार को पुजारी लेख सिंह मंदिर में पूजा करने पहुंचे. पूजन के लिए वह लड्डू गोपाल को स्नान करा रहे थे. उसी दौरान मूर्ति हाथ से गिर गई और मूर्ति का हाथ टूट गया. इससे पुजारी दुखी हो गए. तुरंत उन्होंने खुद खपच्ची से मूर्ति के हाथ पर कच्चा प्लास्टर चढ़ाया. फिर कृष्ण जी की मूर्ति को गोद में लेकर जिला अस्पताल पहुंच गए. पुजारी वहां लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने की जिद पर अड़ गए. डॉक्टरों ने मना किया तो पुजारी रोते-रोते बेसुध हो गया.

तालिबान पर टिप्पणी करने पर युवती को मिल रही धमकियां, नंबर पोर्न वेबसाइट पर डाला

पुजारी की हालत देखने के बाद खुद सीएमएस ने लडडू गोपाल का पर्चा बनवाकर अपने हाथों से प्लास्टर करवाकर पुजारी को सौंपा. इसके बाद भी भगवान को दर्द होने की बात सोच कर पुजारी रोता हुआ, उन्हें अपने साथ लेकर गया.

30 साल पहले प्रतिमा की थी विराजमान

जानकारी के मुताबिक लेख सिंह शाहगंज के खासपुरा क्षेत्र के पथवारी मंदिर में पुजारी हैं. 30 साल पहले मंदिर में श्री कृष्ण की मूर्ति विराजमान किए थे. लेख सिंह प्रतिमा का बच्चों की तरह ख्याल रखते थे. सर्दी, गर्मी और बरसात में मौसम के अनुसार उनके वस्त्र और भोजन का वह पूरा ध्यान रखते थे.

एक किंग कोबरा ने दूसरे कोबरा को निगला, फॉरेस्ट ऑफिसर की यह तस्वीर जमकर हुई वायरल, आप भी देखें

रोते-रोते बेसुध हो गए थे पुजारी

लेख सिंह मुताबिक सुबह 5 बजे स्नान करते समय लड्डू गोपाल गिर गए और उनके हाथ में चोट लग गई. उनके हाथ में खपच्ची बांधी और दर्द का मरहम लगाकर 8 बजे तक उन्हें गोद मे बिठाकर इंतजार किया. इसके बाद 8 बजे ओपीडी खुलते ही उन्होंने लेकर जिला अस्पताल पहुंच गए. जब चिकित्सकों ने लड्डू गोपाल के हाथ पर प्लास्टर न चढ़ाने की बात कही तो वह रोते-रोते बेसुध हो गए. जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक को ये जानकारी हुई तो उन्होंने पर्चा बनवाकर पट्टी कराई. लड्डू गोपाल का इलाज होने के बाद भी पुजारी के आंसू नहीं रुक रहे थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें