मुकदमा दर्ज कराने को थाने के चक्कर काटती रही पीड़िता, महिला आयोग के हस्तक्षेप के बाद आरोपी गया जेल

Somya Sri, Last updated: Sun, 5th Sep 2021, 12:14 PM IST
  • यूपी के आगरा में थाने और 1090 पर शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं हुई. पीड़िता ने राष्ट्रीय महिला आयोग से मदद मांगी. महिला आयोग के दखल के बाद आरोपियों पर केस दर्ज हुआ, गिरफ्तार किया गया और जेल भेज दिया गया.
मुकदमा दर्ज कराने को थाने के चक्कर काटती रही पीड़िता (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आगरा: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा जहां मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है. वहीं आगरा में एक छात्रा को छेड़छाड़ का मुकदमा लिखाने के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत करनी पड़ी. पीड़िता ने एत्मादुद्दौला थाने और 1090 पर शिकायत दर्ज कराई लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई. महिला आयोग से प्रार्थना पत्र सीओ छत्ता के पास जांच के लिए आया था. फिलहाल मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

पीड़ित छात्रा ने राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत कर पत्र लिखा था जिसमें उसने बस्ती के रहने वाले जितेंद्र उर्फ जीते पर आरोप लगाया था कि वो उसे देखकर भद्दे कमेंट व फबत्तियां कसता है. जिसकी शिकायत उसने थाने में की थी लेकिन कार्रवाई न होने से आरोपी का हौसला बढ़ गया. जिसके बाद तीन जुलाई को आरोपी रात में जबरजस्ती उसके घर में घुस गया और उसे दबोच कर छेड़छाड़ शुरू कर दी. पीड़िता घबरा कर चीखने लगी. जिस पर आवाज सुनकर उसके परिजन आ गए. 

आगरा : 50 हजार इनामी भगौड़े अजय कुमार और शैलेंद्र कुमार पर एक और मुकदमा दर्ज

आरोपी का हौसला इतना बुलंद था कि उसने अपने भाई महेश बघेल को भी बुला लिया. जिसके बाद दोनों गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी देने लगे. साथ ही बस्ती में नही रहने देंगे की धमकी देकर भाग गए. पीड़िता ने 1090 से मदद मांगी कोई मदद नही मिली थाने गयी वहाँ भी कोई कार्रवाई नही हुई. अब आरोपी आये दिन शराब पीकर उसको और उसके परिवार को गाली बकते है जिसके चलते परिवार डरा हुआ है.

सीओ छत्ता दीक्षा सिंह ने कहा कि, “ पीड़िता का प्रार्थना पत्र मिलते ही पीड़िता को थाने बुलाया गया और जांच शुरू कर दी गई. पीड़िता के सभी आरोप सही पाए गए. जिसके बाद आरोपी जितेंद्र उर्फ जीते पर मुकदमा कर जेल भेज दिया गया.”

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें