आगरा

ताजनगरी के होटलवालों ने आस छोड़ी तो हजारों कर्मचारी आए सड़कों पर

Smart News Team, Last updated: 26/06/2020 09:56 PM IST
  • कोरोना के कहर के चलते होटल वालों ने आस छोड़ दी है। इसके चलते हजारों लोग बेरोजगार हो गए हैं। ऐसा होटल प्रबंध तंत्र के कर्मचारियों से इस्तीफा लेने के कारण हुआ है।
फोटो आगरा के जेपी पैलेस होटल के रिसेप्शन एरिया की जहां सोशल डिस्टेंसिंग के लिए घेरे बना दिए हैं।

कोरोना के कहर के चलते होटल वालों ने आस छोड़ दी है। इसके चलते हजारों लोग बेरोजगार हो गए हैं। ऐसा होटल प्रबंध तंत्र के कर्मचारियों से इस्तीफा लेने के कारण हुआ है। होटल मार्च के अंतिम सप्ताह में बंद हो गए थे। कर्मचारियों को मार्च का पूरा और अप्रैल का आधा वेतन ही मिला। मई में कुछ भी नहीं मिला। जून में उनसे ऑनलाइन इस्तीफे ले लिए गए। कुछ होटल खुले भी हैं तो उनमें शादी की बुकिंग हैं, लेकिन संख्या सीमित होने के कारण खर्चा भी नहीं निकल रहा है।

17 मार्च की सुबह से ताजमहल बंद होने के बाद होटलों का भी बंद होना शुरू हो गया। लॉ‌कडाउन लगते ही पर्यटकों का आना-जाना बंद हो गया। अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट सेवा बंद हो गईं। तब होटल के प्रबंधतंत्रों ने बैठक कर निर्णय लिया कि कर्मचारियों को मार्च का वेतन दे दिया जाए। जब 15 अप्रैल तक भी होटल नहीं खुले तो अप्रैल का वेतन आधा दे दिया गया। इधर, लॉकडाउन बढ़ता चला गया। इसको देखते हुए होटल भी नहीं खुले। प्रबंधतंत्र ने कर्मचारियों को मई का वेतन नहीं दिया।

एक जून को होटलों को शर्तों के साथ खोलने के आदेश हुए, लेकिन ऐतिहासिक स्मारक नहीं खुले। ऐसे में पर्यटकों का आना शुरू नहीं हुआ। होटल वालों ने कर्मचारियों को वापस नहीं बुलाया। बल्कि उनसे ऑनलाइन इस्तीफे मंगा लिए। दो-चार सितारा होटल ही अपनी साख बनाए रखने के लिए खुल रहे हैं। उनमें शादी की बुकिंग हैं। इक्का-दुक्का कमरे भी बुक हैं, लेकिन इन होटलों में भी स्टाफ काफी कम ही है।

बजट होटल खोलने में आ रही परेशानी

बजट होटलों में कुछ खुले हैं, लेकिन उनमें संरक्षण कार्य कराया जा रहा है। पर्यटक न आने के कारण वे बंद जैसी स्थिति में हैं। शादी समारोहों से उनका खर्च ही नहीं निकलना है। इसलिए उन्होंने आम लोगों के लिए अपने होटल के ताले नहीं खोले हैं। उनका कहना है कि होटल खोलने से बिजली से लेकर अन्य खर्चे बढ़ जाएंगे, लेकिन उसकी एवज में मिलेगा कुछ नहीं। इसलिए जब तक ताजमहल नहीं खुलता है, वे होटल खोलने की स्थिति में नहीं हैं।

नंबर गेम-

11 पांच सितारा होटल हैं आगरा में

20 तीन सितारा होटल हैं ताजनगरी में

500 से ज्यादा बजट होटल हैं शहर में

10 हजार से ज्यादा स्टाफ काम करता है होटलों में

अन्य खबरें