दिल्ली की जगह जयपुर पहुंची ट्रेन, आगरा रेल मंडल के चीफ कंट्रोलर से मांगा जवाब

Smart News Team, Last updated: 07/03/2021 12:44 PM IST
नार्थ वेस्ट रेलवे के सूत्रों के अनुसार पांच मार्च को ओडीसी गुडस ट्रेन (ओवर डायमेंशन कंसाइनमेंट) रास्ता भटक कर अचानक दिल्ली की बजाए जयपुर रेलवे स्टेशन पहुंच गई. पीआर संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि मामले में रेल प्रबंधन ने आगरा रेल मंडल के एक चीफ कंट्रोलर से स्पीष्टकरण मांगा है. जांच शुरू कर दी गई है. 
दिल्ली की जगह जयपुर पहुंची ट्रेन, आगरा रेल मंडल के चीफ कंट्रोलर से मांगा जवाब, प्रतीकात्मक फोटो

आगरा. दिल्ली की जगह ट्रेन जयपुर पहुंच गई. नार्थ वेस्ट रेलवे के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पांच मार्च को ओडीसी गुडस ट्रेन (ओवर डायमेंशन कंसाइनमेंट) रास्ता भटक कर अचानक जयपुर रेलवे स्टेशन पहुंच गई. यह रेल करीब 48 घंटे तक किसी दूसरे ट्रैक पर भटकती रही. 

मामले की जांच रेल प्रबंधन ने शुरू कर दी है. पीआर संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि इस मामले में रेल प्रबंधन ने आगरा रेल मंडल के एक चीफ कंट्रोलर से स्पीष्टकरण मांगा है. पूरे मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. रेलवे रिकार्ड के अनुसार ओडीसी ट्रेन का जयपुर से कोई रूट नहीं था. रेलवे प्रबंधन ने जांच की तो पता चला कि ट्रेन को गलत रूट पर भेज दिया गया है. देश की राजधानी दिल्ली की बजाए ट्रेन को जयपुर रूट पर रवाना कर दिया गया था. 

CM योगी कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर सख्त, प्राइवेट अस्पतालों पर रखी जाएगी नजर

इस पूरे मामले की जानकारी मिलने के बाद रेलवे बोर्ड ने ट्रेन को जयपुर से मथुरा जंक्शन भिजवाया. इसके बाद दिल्ली की ओर रवाना किया गया. जानकारी के अनुसार रेल अलवर में पांच मार्च रात 10 बजे लौटी. यहां से सुबह पांच बजे रेल को मथुरा जंक्शन लाया गया. नार्थ सेंट्रल रेलवे आगरा मंडल के पलवल से छह मार्च की सुबह 10 बजे ट्रेन पास की गई. 

आधार लिंक कर घर बैठे परिवहन विभाग की 18 सेवाओं का उठाए लाभ, जानें पूरी डिटेल

आपको बता दें कि ट्रेन को बवीना की ओर से आने वाली इस ओडीसी गुडस ट्रेन को पलवल-दिल्ली के रास्ते जोधपुर की ओर जाना था. रेल दिल्ली की बजाए जयपुर पहुंच गई. बाद में रेल को जयपुर से वापस अलवर होकर मुथरा लाया गया और फिर दिल्ली होकर जोधपुर के लिए रवाना किया गया. 

सपा MLC वासुदेव यादव की बढ़ी मुश्किलें, शासन ने दी विजलेंस टीम को मुकदमा दर्ज करने की अनुमति

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें