आगरा

नेग लेने आए किन्नरों ने रुमाल सूंघा दूल्हे के परिवार से लाखों के गहने-पैसे लूटे

Smart News Team, Last updated: 30/06/2020 12:41 PM IST
  • डौकी थाना के भोलपुरा गांंव में सोमवार रात बारात में किन्नरों ने नेग मांगने के बहाने लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया। दरअसल, पांच किन्नर बारात में नेग मांगने आए थे, नेग मिलने के बाद भी उन्होंने सोने और पैसे लूट लिए।
किन्नरों ने नशीला रुमाल सुघाकर दूल्हे के परिजनों से लाखों के गहने व नगदी लूटी

ताजनगरी आगरा में किन्नरों ने एक ऐसी वारदात को अंजाम दिया है, जिसे जानने के बाद उन पर विश्वास करना काफी कठिन हो जाएगा। डौकी थाना के भोलपुरा गांंव में सोमवार रात बारात में किन्नरों ने नेग मांगने के बहाने लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया। दरअसल, पांच किन्नर बारात में नेग मांगने आए थे, नेग मिलने के बाद भी उन्होंने सोने और पैसे लूट लिए। 

दरअसल, परसादी लाल की पुत्री सुमन की बरात फतेहाबाद के गढ़ गांव से आई थी। बारात चढ़ने के बाद अन्य कार्यक्रम चल रहे थे । रात के करीब 2:00 बजे एक टेंपो में सवार होकर पांच किन्नर बरात में पहुंचे और अपना नेग मांगने लगे। दूल्हे के पिता ने 1000 रुपये देकर उनको विदा किया मगर वह वहीं खड़े रहे।

बरात के लोग दुल्हन के घर पहुंच गए। इसी बीच किन्नरों ने दूल्हे के पिता लालजीत, चाचा मुन्नालाल, भूरी सिंह, फूफा सोवरन सिंह को नशीला रुमाल सूंघा कर सोने के आभूषण और पिता से 15,000 व फूफा से 5000 रुपये नगद लूट लिए। जब 10 मिनट बाद दूल्हे का भाई गुड्डू घड़ी लेने के लिए जन्मासे पर लौटा तो वहां लाइट बंद थी। सभी बेहोश पड़े थे तभी वहां पड़े रूमाल को उठाकर गुड्डू ने सूंघा तो वह भी बेहोश हो गया। जिसे देखकर अन्य बारातियों में हड़कंप मच गया और शोर सुनकर आसपास के लोग दौड़े।

संदूक आदि खोलकर देखा गया तो सब टूटे पड़े थे और उनमें सामान बिखरा पड़ा था । सोने के आभूषण गायब थे। दूल्हे व फूफा और चाचा की जेब में रखे पैसे भी गायब थे। इसकी सूचना बारातियों ने 112 नंबर पुलिस को दी। पीआरवी व थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई है।

वहीं दूल्हे के पिता व फूफा को होश आने पर उन्होंने घटना की जानकारी दी लेकिन दोनों चाचा को अभी होश नहीं आया था। प्रभारी निरीक्षक डौकी अशोक कुमार से बात करने पर बताया कि भोलपुरा में आई बरात में किन्नरों द्वारा नशीला रुमाल स्वागत लूट की गई है, जिसकी जांच कर रहे हैं। हालांकि, पीड़ित पक्ष के द्वारा भी तहरीर नहीं दी गई है।

 

 

अन्य खबरें