घरवालों से परेशान युवक ने बनाई अपहरण की झूठी कहानी, पूछताछ में बयां की दास्तां

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 03:29 PM IST
  • आगरा के थाना एत्मादपुर क्षेत्र में स्थित गांव पिपरिया में रविवार की सुबह बदमाशों द्वारा घर के सामने से ही अपहरण करने का मामला सामने आया था. इस अपहरण से पूरे गांव में दहशत फैल गई थी. लेकिन हैरान करने वाली बात तो यह है कि अपहरण की यह कहानी पूरी तरह से झूठी थी.
आगरा में युवक ने घर वालों से परेशान होकर रची झूटी अपहरण की कहानी

आगरा: आगरा के थाना एत्मादपुर क्षेत्र में स्थित गांव पिपरिया में रविवार की सुबह बदमाशों द्वारा घर के सामने से ही अपहरण करने का मामला सामने आया था. इस अपहरण से पूरे गांव में दहशत फैल गई थी. लेकिन हैरान करने वाली बात तो यह है कि अपहरण की यह कहानी पूरी तरह से झूठी थी. दरअसल, पुलिस ने घरवालों से परेशान होकर अपने ही अपहरण की कहानी रची थी. हालांकि, 10 घंटे बाद ही पुलिस ने युवक को मथुरा से बरामद कर लिया था.

युवक का नाम शिशुपाल है, जिसकी उम्र करीब 25 वर्ष है. घर के सामने से ही अपहरण होने की सूचना पुलिसवालों को दी गई थी, जिसे लेकर उच्च अधिकारियों ने पुलिस की टीमें गठित कीं और मामले की जांच के लिए आदेश दिये. पुलिस ने युवक के नंबर पर फोन लगाया, जिसमें उसने बताया कि बदमाश दो से तीन घंटे गाड़ी में ही उसे घुमाते रहे और बाद में एक कमरे में ले जाकर बंद कर दिया. इसके बाद पुलिस ने युवक का फोन सर्विलांस पर लगा दिया, जिसकी लोकेशन मथुरा में मिली.

आगरा में सैनिक के मकान में हुई लूटपाट, सात लाख का समान लूटकर हुए फरार

शिशुपाल के लिए पुलिस की टीमें मथुरा रवाना हुईं, जहां पुलिस ने उसे करीब तीन बजे के आसपास मथुरा बस अड्डे से पकड़ लिया. शिशुपाल से जब पूछताछ हुई तो उसने बताया कि अपहरण की कहानी झूठी थी. घरवाले उससे पैसे मांगते थे और उसे काफी परेशान भी करते थे. ऐसे में सुबह करीब पांच बजे वह घर से बाहर निकला और गाड़ी में बैठकर एक्सप्रेसवे होते ही मथुरा के वृंदावन कट पर उतर गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें