आगरा में जाली नोटों के दो अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरफ्तार, पूछताछ है जारी

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 04:42 PM IST
  • जाली भारतीय मुद्रा की अंतर्राष्ट्रीय तस्करी करने वाले गिरोह का यूपी आतंकवाद निरोधक दस्ते ने भंडाफोड़ कर दिया है. लखनऊ से आए आतंकवादी निरोधक दस्ते ने इस मामले को लेकर आगरा से दो युवकों को गिरफ्तार किया है.
भारतीय मुद्रा की अंतर्राष्ट्रीय तस्करी

आगरा: आगरा में भारतीय मुद्रा की अंतर्राष्ट्रीय तस्करी करने वाले गिरोह का हाल ही में पर्दाफाश हुआ है. दरअसल, जाली भारतीय मुद्रा की अंतर्राष्ट्रीय तस्करी करने वाले गिरोह का यूपी आतंकवाद निरोधक दस्ते ने भंडाफोड़ कर दिया है. लखनऊ से आए आतंकवादी निरोधक दस्ते ने इस मामले को लेकर आगरा से दो युवकों को गिरफ्तार किया है. जाली नोटों की तस्करी करने वालों में से एक बुलंदशहर का रहने वाला तहसीन खान और वहीं दूसरा द्वारका, नई दिल्ली का रहने वाला है, जिसका नाम मोहम्मद वसीम बताया जा रहा है.

जाली नोटों की तस्करी में शामिल वसीम बिहार का मूल निवासी है. उसके पास से 5,97,000 रुपये के बराबर की जाली मुद्रा बरामद की गई है. सभी जाली नोट 500 रुपये के पाए गए हैं. इस बारे में बात करते हुए एटीएस के एडीजी डीके ठाकुर ने बताया कि आगरा से गिरफ्तार लोग बांग्लादेश से पश्चिम बंगाल के मालदा के रास्ते नकली नोट लाकर एनसीआर और पश्चिमी यूपी में तस्करी करते हैं. उन्होंने जाली मुद्रा के बारे में बात करते हुए बताया कि बंगाल में जो जाली भारतीय मुद्रा तैयार की जा रही हैं, वह बहुत ही उच्च गुणवत्ता की हैं.

दोपहर 12 बजे तक बिक गए ताजमहल के सभी टिकट, पर्यटक लौटे मायूस

एडीजी ठाकुर ने इस बारे में आगे बताया कि

ऐसे नोटों की एक बार में पहचान कर पाना काफी मुश्किल होता है. इन लोगों के पास से जाली नोटों के अलावा एक कार, 6 मोबाइल, आधार कार्ड, वोटर कार्ड, डीएल और डेबिट कार्ड भी बरामद किया है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों को न्यायालय में पेश करके पुलिस कस्टडी रिमांड ली जाएगी, जिससे पूरे नेटवर्क के बारे में खुलासा किया जा सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें