आगरा: नदी में शवों को बहाने वालों को रोकने के लिए बनी 11 सदस्यीय समिति

Smart News Team, Last updated: Wed, 19th May 2021, 8:09 AM IST
  • आगरा मेयर की अध्यक्षता में नदी में शव प्रवाहित करने से रोकने के लिए 11 सदस्यीय समिति बनाई गई. वही ये समिति उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश के अनुसार बनाई गई है.
नदी में शवों को बहाने वालों को रोकने के लिए बनी 11 सदस्यीय समिति

आगरा. आगरा में नदियों में शव को प्रवाहित होने से रोकने के लिए 11 सदस्यों की समिति का गठन कर दिया गया है. वही इसके बारे में आगरा के मेयर ने नवीन जैन ने बताया हैं. नवीन जैन ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार हमने आगरा में 11 सदस्यों की समिति का गठन किया हैं. जो आगरा में स्थित नदियों में कोरोना संक्रमित मरीजों के शवों पर बहने से रोकेंगी. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस समिति के माध्यम से जो भी समस्याएं है उन्हें हम सुलझाएंगे. 

आपको बता दे कि जल्द ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी नगर निगम, पालिका परिषद और नगर पंचायत में नदियों में शवों को बहने से रोकने के लिए एक समिति को बनाने का आदेश दिया था. वही इस समिति का अध्यक्ष मेयर या चेयरमैन रहेंगे. जिनकी देखरेख में समिति काम करेगी. वही इस समिति में सरकार के आदेशानुसार 10-10 पार्षद रखें जाएंगे. जिनका काम होगा कि उनके नगर निगम में आने वाली नदी में कोई भी कोरोना संक्रमित मृत मरीज या साधारण मृत के शव को नदी में नहीं बहा पाए.

योगी सरकार के मुताबिक पंचायत चुनाव में ड्यूटी के दौरान सिर्फ तीन कर्मचारी मरें

इतना ही नहीं यूपी सरकार ने तो सभी जिलों के जिलाधिकारी और गांवों के ग्राम प्रधान को भी नदियों में शव नहीं प्रवाहित होने के निर्देश दिए है. साथ ही यह भी कहा है कि कोरोना संक्रमित मरीज के मौत के बाद जरूरतमंद परिवारों को अपनों का अंतिम संस्कार कराने के लिए रकम भी उपलब्ध कराएं.

यूपी में आठवीं तक के बच्चों को भत्ता और राशन देगी योगी सरकार, ये है प्लान

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें