शादी के जश्न में गोली मार कर की दूल्हे के फुफेरे भाई की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Fri, 2nd Jul 2021, 9:26 PM IST
  • आगरा के वृंदावन गार्डन मरीज होम में हो रही एक शादी के दौरान दूल्हे के फुफेरे भाई को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई. जिसके बाद युवक के पिता गोविंद सिंह ने अलीगढ़ निवासी विवेक पर हत्या का आरोप लगा मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ लिया है. पूछताछ जारी है।
शादी के जश्न में गोली मार कर की दूल्हे के फुफेरे भाई की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार

आगरा. कस्बा स्थित वृंदावन गार्डन मैरिज होम में जहां अंदर शादी का जश्न मनाया जा रहा था वहीं मैरिज होम के बाहर दूल्हे का फुफेरा भाई गोली लगने से जख्मी पड़ा था. धर्मेंद्र सिंह के पिता गोविंद सिंह ने अलीगढ़ निवासी विवेक पर हत्या का आरोप लगा मुकदमा दर्ज कराया है. विवेक ने धर्मेंद्र को गोली क्यों मारी यह सवाल अभी भी सवाल ही है. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जिसमें एक आरोपित रिटायर फौजी है जिसकी बंदूक से गोली चलाई गई थी. पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या की धारा के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है.

घटनाक्रम का सीसीटीवी फुटेज भी काफी वायरल हुआ था.गोविंद सिंह ने अपने बेटे धर्मेंद्र सिंह की हत्या का आरोप विवेक पर लगाते हुए कहा कि बेटा अपने ममेरे भाई की बारात में आगरा गया था. मैरिज होम के बाहर रिटायर फौजी ज्ञानेंद्र सिंह की पिस्टल लेकर अलीगढ़ निवासी विवेक ने उनके बेटे के सीने पर गोली चला दी. उसने ऐसा क्यों किया यह सामने नहीं आ पाया है. पुलिस ने आरोपी से यह सवाल पूछा तो उसने भी कोई जवाब नहीं दिया. पुलिस यह मान रही है कि शादी के दौरान दोनों के बीच में कोई आपसी बहस हुई होगी हालांकि आरोपित पक्ष का तर्क है कि गोली अचानक चल गई थी. विवेक की मंशा किसी की हत्या करने की नहीं थी.

घरवालों के खिलाफ रचाई थी लव मैरिज, पति के छोड़ने के बाद ऐसी हालत में मिली महिला

 

एसपी देहात पश्चिम सत्यजीत गुप्ता ने इस मामले में बताया कि भट्टा वाली गली, हाथरस कोतवाली निवासी ज्ञानेंद्र सिंह व अलीगढ़ निवासी विवेक को पकड़ा गया है. ज्ञान सिंह से पूछताछ के दौरान पहला सवाल उनसे यही किया गया कि वह शादी में लाइसेंसी पिस्टल लेकर क्यों आया था. उसके पास कितने कारतूस थे. छानबीन और पूछताछ में पता चला कि ज्ञानेंद्र सिंह आठ कारतूस लेकर आया था. दो गोलियां उसने जयमाला के समय चलाई थीं. रात करीब साढ़े तीन बजे कुछ लोग मैरिज होम के बाहर खड़े थे जिसके दौरान ही विवेक ने ज्ञानेंद्र से उसकी पिस्टल ली और धर्मेंद्र पर गोली चला दी।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें