आगरा: BJP विधायक, पूर्व जिलाध्यक्ष समेत 16 पर केस वापिस लेगी योगी सरकार

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 01:09 PM IST
  • भाजपा विधायक रामप्रताप सिंह और कुछ अन्य लोगों के ख़िलाफ़ 1990 में मामला दर्ज किया गया था. पूर्व ज़िला अध्यक्ष  श्याम भदौरिया और कुछ अन्य लोगों के ख़िलाफ़ हत्या के प्रयास की धारा के तहत मामला दर्ज किया गया था. इसके अलावा कुछ अन्य लोगों है जिनपर दर्ज मामले वापिस करने की रिपोर्ट मांगी गई है.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

आगरा. शासन की तरफ से भाजपा विधायक, पूर्व जिलाअध्यक्ष और 16 लोगों पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने हत्या और अन्य धाराओं के चलते दर्ज मामलों को वापिस लेने की तैयारी चल रही है. ज़िला मजिस्ट्रेट और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने शासन के निर्देश के चलते शासकीय अधिवक्ता फ़ौजदारी से 13 बिंदुओं पर रिपोर्ट माँगी है. इन सभी नेताओं पर थाने में केस पहले से दर्ज है. 

भाजपा विधायक रामप्रताप सिंह और कुछ अन्य लोगों के ख़िलाफ़ 1990 में मामला दर्ज किया गया था. उनपर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने और कुछ अन्य धाराओं के साथ मामला दर्ज किया गया था. पूर्व ज़िला अध्यक्ष  श्याम भदौरिया और कुछ अन्य लोगों के ख़िलाफ़ हत्या के प्रयास की धारा के तहत मामला दर्ज किया गया था. ये मामला 2010 में दर्ज किया गया था. ये दोनो मामले थाना हरीपर्वत में किए गए थे. जिस अब शाासन ने रिपोर्ट माँगी है.

कोरोना काल में ताज महल में इश्क नहीं होगा आसान, सोशल डिस्टेंसिंग रखा जाएगा ध्यान

इसके अलावा कुछ अन्य लोगों है जिनपर दर्ज मामले वापिस करने की रिपोर्ट मांगी गई है. इनमें नाम है शिवकुमार राजौरा, धर्मेंद्र सोनी, अनिल कुमार, अरविंद कुमार, कैलाश, सुशील कुमार, रजनेश , राजा, राजू, राजकुमार और ज्ञानेंद्र है जिनपर अलग-अलग थानों में मामले दर्ज है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने शासकीय अधिवक्ता को पत्र भेजा है और इस मामले आख्या देने को कहा है. इससे पहले भी सांसद, विधायक सहित कई नेताओं पर दर्ज मामले वापिस लिये जा चुके है. हिन्दुवादी नेता प्रवीन तोगड़ीया, विधायक योगेंद्र उपाध्याय व पूर्व सांसद चौधरी बाबूलाल के विरूद्ध भी दर्ज मामलों को वापिस लेने की शासक की मंजूरी मिल चुकी है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें