टिकट नहीं मिलने पर फूट-फूट कर रोए दिगम्बर धाकरे, कहा- BJP ने की मेरी भ्रूण हत्या

Somya Sri, Last updated: Sat, 22nd Jan 2022, 1:19 PM IST
  • बीजेपी बागी नेता दिगंबर सिंह धाकरे पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर कैमरे के सामने फूट-फूट कर रोने लगे. इस दौरान बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने उनकी भूर्ण हत्या की है.
रोते हुए दिगंबर सिंह धाकरे (फोटो- वायरल वीडियो)

आगरा: उत्तर प्रदेश चुनाव में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं सभी राजनीतिक दल तैयारियों में जुट गए हैं. राजनीतिक पार्टियों की ओर से घोषणा पत्र जारी किया जा रहा है. वहीं कई पार्टियों ने यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर उम्मीदवारों की पहली, दूसरी सूची भी साझा की है. हालांकि उम्मीदवारों की लिस्ट आने के बाद कई प्रत्याशी ऐसे हैं जिनका टिकट कट गया है. बीजेपी से बागी हो गए दिगंबर सिंह धाकरे भारतीय जनता पार्टी से टिकट मांग रहे थे. लेकिन, पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर वे फूट- फूट कर रोने लगे. साथ ही उन्होंने बीजेपी पर कई गंभीर आरोप भी लगाए. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने मेरी भ्रूण हत्या की है.

बीजेपी से टिकट ना मिलने पर दिगंबर सिंह धाकरे खुद को रोक नहीं पाए और मीडिया व कैमरे के सामने ही फूट-फूट कर रोने लगे. उन्होंने मीडिया को अपना दर्द बयां किया. उन्होनें कहा कि भाजपा ने मुझे भरोसे में रखा और अब मुझे किसी लायक नही छोड़ा है. उन्होंने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि खेरागढ़ की जनता के साथ भारतीय जनता पार्टी ने धोखा किया है. वहीं दिगंबर सिंह धाकरे ने कहा कि भाजपा के लिए तीन साल लगातार मेहनत की, मुझे भरोसा दिया कि खेरागढ़ से प्रत्याशी बनाएंगे. पर पार्टी ने मुझे धोखा दिया. भारीतय जनता पार्टी ने की मेरी भ्रूण हत्या की है.

UP चुनाव: 85 BJP कैंडिडेट की लिस्ट, सपा में गए विनय शाक्य की बेटी रिया को बिधूना से टिकट

बता दें कि बीजेपी से टिकट ना मिलने पर भी दिगंबर सिंह धाकरे चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हैं. वे निर्दलीय ही यूपी चुनाव की रणभूमि में उतरेंगे. उन्होंने कहा कि मैं हार मानने वालों में से नहीं हूं. बीजेपी ने भले ही धोखा दिया है. लेकिन, वह अब निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे. इस संबंध में उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ लड़ना पत्थर से सिर फोड़ना है, लेकिन मैं तब भी चुनाव लड़ूंगा. जानकारी के मुताबिक दिगंबर सिंह धाकरे ने खेरागढ़ विधानसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है.

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उन सभी प्रत्याशियों को टिकट देने से इंकार कर दी है. जिनका पिछले 5 साल में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें