UP के सवा लाख क्रिमिनल की कुंडली पांच कलर में कोड, हरा रंग जेल, नारंगी फरार, काला...

Smart News Team, Last updated: Fri, 13th Aug 2021, 4:33 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में अपराधियों और बदमाशों को ट्रैक करने के लिए यूपी पुलिस रंगों से पहचान करेगी. यूपी पुलिस क्रिमिनल्स की कुंडली अब पांच कलर में रखेगी. जिसमें हर रंग का अलग मतलब होगा. हरा रंग उन अपराधियों के लिए होगा जो जेल में सजा काट रहे हैं. लाल रंग उनके लिए जो लापता होंगे, नारंगी रंग फरार अपराधियों के लिए और काला रंग मारे जा चुके अपराधियों के लिए होगा. इसस पुलिस को अपराधियों का रिकॉर्ड रखने में आसानी होगी.
अब ऐप के जरिए अपराधियों को ट्रैक करेगी पुलिस, रंग बताएंगे बदमाश जेल में है या फरार

आगरा. टेक्नोलॉजी के इस जमाने में अब पुलिस वालों को अपराधियों और बदमाशों के बारे में पता लगाने के लिए न तो किसी और पुलिस अधिकारी से संपर्क करने की जरूरत पढ़ेगी और न ही किसी थाने जाने की जरूरत होगी और न ही अलमारी से मोटी-मोटी फाइलें निकालने की जरूरत होगी. रंगों से ही पता चल जाएगा कि अपराधी का क्या रिकॉर्ड है. क्रिमिनल जेल में सजा काट रहा है या पुलिस की गिरफ्त से दूर है इसका पता अब रंग देंगे. ये सुनने में नया और अजीब जरूर है लेकिन तकनीक के जरिए ये संभव हो पाया है. फोन में एक ऐप के जरिए रंग बताएंगे की अपराधी जेल में है या फरार है. हरा रंग ये बताएगा कि अपराधी जेल में है. लाल रंग बताएगा कि अपराधी लापता है जिसकी जानकारी पुलिस के पास नहीं है. इसी के साथ नारंगी रंग फरार और इनामी अपराधियों की जानकारी देगा. नीला रंग उन अपराधियों का कोड होगा जो सक्रिय है. काला रंग मारे जा चुके अपराधियों का कोड होगा.

आगरा एडीजी जोन राजीव कृष्ण के अभियान ऑपरेशन पहचान ऐप से अपराधियों की डिटेल रखना आसान हो पाएगा. एडीजी जोन राजीव कृष्ण का कहना है कि यह ऐप पुलिस को हाईटेक बनाएगा और बदमाशों के बारे में जानकारी लेने में पुलिस का काम आसान करेगा. इस ऐप को इस्तेमाल करने के बारे में भी एडीजी जोन ने बताया है. 

ऐप को खोलने पर बदमाशों की सूची सामने आ जाएगी. जिसमें बदमाशों के नाम अलग-अलग रंग में दिखाई देंगे. इस रंगों के माध्यम से ही यह पता लगाया जा सकता है कि बदमाश वर्तमान में कहां है. एडीजी राजीव कृष्ण ने यह भी बताया कि बदमाशों की सूची एक क्लिक पर सामने आ जाती है कि वे क्या के रहे हैं. अब बदमाशों पर नजर रखना पुलिस की जिम्मेदारी होगी अगर फिर भी बदमाशों की कोई वारदात सामने आती है तो इसके लिए पुलिस की जवाबदेही होगी.

यूपी चुनाव के लिए सपा की तैयारी शुरू, इन चार जिलों में नए अध्यक्ष बनाए गए

इस ऐप ने पुलिस का काम आसान कर दिया है. एक क्लिक करने पर ही यह ऐप रंग के माध्यम से बता देगा की यह ऐप न केवल बदमाशों के बारे में जानकारी देता है बल्कि इस ऐप के माध्यम से उन बदमाशों पर नजर रखी जा सकती है. पहले किसी भी बड़ी वारदात के बाद बदमाशों की तलाश के लिए पुलिस को काफी छानबीन करनी पड़ती थी. पुराने जमाने के इंस्पेक्टर अपनी अलमारी से बदमाशों के फोटो एल्बम निकालते थे. उसे पीड़ित को दिखाया जाता था. लेकिन अब ऐसा नहीं है. एक फोन से ही अब बदमाशों का कच्चा चिट्ठा बाहर निकल कर आ जायेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें