UP चुनाव: ताजनगरी में शराब तस्करी रोकने के लिए यूपी पुलिस ने बढ़ाई सख्ती

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th Jan 2022, 12:12 PM IST
  • उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी के साथ पुलिस तैनात भी जागरूक हो गई है. यूपी के आगरा में अवैध तरीके से शराब तस्करी किए जाने का मामला सामना आया है जिस पर प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है. आपरेशन पहचान एप से जोन में 830 शराब तस्कर चिह्नित किए गए हैं. तस्करी रोकने के लिए राजस्थान और मध्यप्रदेश के बार्डर पर पुलिस ने चेकिंग शुरू कर दी है. जल्द ही बैरियर लगाकर और सख्ती बढ़ाई जाएगी.
UP चुनाव: ताजनगरी में शराब तस्करी रोकने के लिए यूपी पुलिस ने बढ़ाई सख्ती (File Photo)

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी के साथ पुलिस तैनात भी जागरूक हो गई है. यूपी के आगरा में अवैध तरीके से शराब तस्करी किए जाने का मामला सामना आया है जिस पर प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है. आपरेशन पहचान एप से जोन में 830 शराब तस्कर चिह्नित किए गए हैं. तस्करी रोकने के लिए राजस्थान और मध्यप्रदेश के बार्डर पर पुलिस ने चेकिंग शुरू कर दी है. जल्द ही बैरियर लगाकर और सख्ती बढ़ाई जाएगी.

आगरा जनपद के कई थाना क्षेत्रों से राजस्थान और मध्यप्रदेश की सीमा लगी हुई है. मथुरा जनपद से हरियाणा और राजस्थान दोनों की सीमा लगी है. यहां से चुनाव के लिए अवैध शराब की तस्करी की आशंका है. इसको देखते हुए पुलिस बार्डर पर सख्ती बढ़ा दी है. बार्डर के सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस दूसरे राज्यों की सीमा पर पेट्रोलिंग कर रही है.

बिहार ये कैसी शराबबंदी: एक साल में 45 लाख लीटर से ज्यादा शराब जब्त ही हो गई

इसके साथ ही राजस्थान और मध्यप्रदेश के पुलिस अधिकारियों से भी समन्वय स्थापित किया जा रहा है. एडीजी राजीव कृष्ण ने बताया कि आपरेशन पहचान एप में जोन का दस वर्ष का डाटा फीड कराया गया है. इसमें अवैध शराब के साथ पकड़े गए 19910 लोगों का डाटा है. इनमें 830 ऐसे अपराधी हैं जिनके पास से 100 लीटर या उससे अधिक शराब पकड़ी गई थी. इनका पुलिस वेरीफिकेशन कर चुकी है. अब इनके खिलाफ दर्ज मुकदमाें की कोर्ट में स्थिति की जानकारी की जा रही है.

हरियाणा से शराब की तस्करी कई रास्तों से होती है. तस्कर हाईवे से आने के बजाए गांवों के कच्चे रास्तों से निकलते हैं. राजस्थान होते हुए भी माल यूपी में प्रवेश करता है. पुलिस ने ऐसे रास्तों को चिन्हित किया है. हाईवे के साथ गांवों में भी चेकिंग के लिए बैरियर लगाए जाएंगे. गांवों में पुलिस अपने खबरी सक्रिय करेगी. जो पुलिस को संदिग्ध गाड़ियों को निकलने की सूचना दिया करेंगे. उन गाड़ियों को रास्ते में पकड़ा जाएगा. हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर शराब तस्करी पर रोक लगाने की योजना बनाई गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें