पति को मारकर फेंक दिया और बताया एक्सीडेंट, आशिक के साथ गिरफ्तार हुई कातिल पत्नी

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 10:14 PM IST
  • आगरा के नगला सोहनलाल में 11 सितंबर की रात गुलाब सिंह की मौत सड़क हादसे में नहीं हुई थी बल्कि पत्नी ने आशिक के साथ मिलकर उनकी हत्या करवाई थी. पुलिस ने जांच के बाद हत्या आरोपियों को जेल भेजा.
प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा: 12 सितंबर को आगरा के नगला सोहन लाल के रहने वाले गुलाब सिंह का शव सड़क किनारे मिला. मामले को एक्सीडेंट कहकर दबा दिया गया था पर अब पुलिस जांच के बाद यह खुलासा हुआ है कि 11 सितंबर की रात गुलाब सिंह की पत्नी अनीता ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की थी और निर्माणाधीन पुल के नीचे फेंक दिया था. हालांकि घटना के वक्त पुलिस ने भी एक्सीडेंट का मामला बताया था और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत की वजह गंभीर चोटे बताई गई थी. पुलिस ने से सड़क हादसा मान लिया था.

लेकिन मृतक के भाई ने गुलाब सिंह की मौत को एक्सीडेंट नहीं बल्कि हत्या का मामला बताया था. जबकि पत्नी ने पति के घर वालों पर शक जताया था कि यह भी उसके पति को मार सकते हैं. इस पर एसएसपी बबलू कुमार ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विशेषज्ञों की राय ली. सिकंदरा के इंस्पेक्टर अरविंद कुमार को जांच के निर्देश दिए गए. पुलिस ने जब हत्या के एंगल से छानबीन शुरू की. तब पता चला कि कागारौल निवासी सनी, जो नगला सोहनलाल में रहता है. उसका गुलाब सिंह के घर बराबर आना जाना था. पुलिस ने जब सनी की कॉल डिटेल निकाली. तब पता चला कि 11 तारीख की रात सनी ने आखिरी बार गुलाब की पत्नी अनीता से की थी. पुलिस ने जब सनी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कुबूल किया और बताया कि अनीता भी हत्या में शामिल है.

हिंदू डॉक्टर की अर्थी को राम नाम सत्य कहते हुए श्मशान ले गए मुस्लिम, दी मुखाग्नि

जब पुलिस ने अनीता से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह पति के व्यवहार से तंग आ चुकी थी. इसी दौरान उसकी मुलाकात सनी से हुई. अनीता ने बताया कि वह उससे प्यार करने लगा था और दोनों साथ रहना चाहते थे. पति उनके रास्ते का रोड़ा बन रहा था. तब अनीता ने सनी के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटाने की योजना बनाई. योजना के तहत 11 सितंबर को सनी घर आया. अनीता ने अपने पति के पैर पकड़े और सनी ने उसका गला दबा दिया. पति को बेहोशी की हालत में घर के पास बने निर्माणाधीन पुल के नीचे फेंक दिया और फिर एक पत्थर से उसका सिर और पैर कुचल दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें