मोबाइल छीनने पर पत्नी को जला दिया था जिंदा, सात साल बाद मिली सजा

Smart News Team, Last updated: 07/11/2020 04:57 PM IST
  • आगरा में शख्स ने मोबाइल छीनने पर पत्नी को जिंदा ही जला दिया था. इस मामले में आगरा जिले में अदालत ने सात साल बाद शख्स को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इसके साथ ही शख्स पर 30 हजार रुपये का अर्थदंज भी लगाया गया है.
आगरा में सामने आया एक दिल दहलाने वाला मामला

आगरा.आगरा में शख्स ने मोबाइल छीनने पर पत्नी को जिंदा ही जला दिया था. इस मामले में आगरा जिले में अदालत ने शख्स को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इसके साथ ही शख्स पर 30 हजार रुपये का अर्थदंज भी लगाया गया है. जुर्माने की आधी रकम मृतक के बेटों को भी देने के आदेश दिये गए हैं. बता दें कि घटना 29 सितंबर, 2013 की है और इस मामले को लेकर करीब 7 सात साल बाद शख्स को सजा सुनाई गई.

आगरावासियों का सांस लेना हुआ मुश्किल, हवा से आंखों में भी हुई जलन

बता दें कि साल 2013 में 29 सितंबर, 2013 को जगनेर क्षेत्र थाना के नौनी गांव निवासी जगन सिंह और उसकी पत्नी सीमा के बीच काफी विवाद हो गया था. इसी बीच सीमा ने अपने पति के साथ से मोबाइल फोन छीन लिया था. इस बात से नाराज होकर रात एक बजे जगह सिंह ने अपनी पत्नी पत मिट्टी का तेल छिड़क दिया और उसे आग लगा दी. ऐसे में सीमा बुरी तरह से जल गई. उसे जब अस्पताल में भर्ती कराया गया तो 24 दिनों तक संघऱ्ष करने के बाद सीमा ने दम तोड़ दिया.

सीमा ने हॉस्पिटल में रहते हुए ही पुलिस को अपना बयान भी दर्ज कराया. वहीं, पुलिस ने भी सीमा से ही तहरीर ली थी. गंभीर रूप से झुलस चुकी सीमा 24 दिनों तक जिंदगी और मौत की जंग लड़ती रही. मामले को लेकर अभियोजन पक्ष ने अपर जिला जज अशोक कुमार की अदालत में नौ गवाह और सुबूत पेश किये. इस केस की सुनवाई करीब सात साल तक चली. अपर जिला के जज अशोक कुमार ने मामले में पत्नी की हत्या के आरोपी जगह सिंह को बीते शुक्रवार आजीवन कारावास और 30 हजार रुपये अर्थदंज की सजा सुनाई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें