SC/ST एक्ट में केस होने पर जिंदा जली महिला, डीएम के आश्वासन के बाद अंतिम संस्कार

Smart News Team, Last updated: 15/10/2020 12:46 AM IST
  • पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर भरत और उसकी पत्नी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. साथ ही परिजनों का आरोप है कि प्रशासन की लापरवाही और खराब व्यवाहर के चलते भी इस मामले में ये नौबत आई. मांग है कि 1 करोड़ का मुआवजा परिवार वालों को दिया जाए.
प्रशासन के न्याय दिलवाने के आश्वासन पर परिजनों ने होने दिया अंतिम संस्कार

आगरा. बुधवार की सुबह प्रशासन के आश्वासन और न्याय दिलाने के भरोसे पर सुबह 10 बजे संगीता अंतिम संस्कार कर दिया है. पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर भरत और उसकी पत्नी के खिलाफ  मामला दर्ज कर लिया है. साथ ही परिजनों का आरोप है कि प्रशासन की लापरवाही और खराब व्यवाहर के चलते भी इस मामले में ये नौबत आई. मांग है कि 1 करोड़ का मुआवजा परिवार वालों को दिया जाए.

मामले की गंभीरता को देखते हुए भाजपा विधायक रामप्रताप सिंह चौहान ने सुबह फोन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पूरे प्रकरण की जानकारी दी. साथ ही यह भी बताया कि पूरे प्रकरण में पुलिस की घोर लापरवाही उजागर हुई है. बच्चों के विवाद में एक महिला की जान चली गई और दूसरे पक्ष हत्या में जेल चला गया. आगर पुलिस इस मामले में पहले दिन से गंभीरता दिखाती तो यह नौबत ही नहीं आती. मालले पर जोन एडीजी अजय आनंद ने बताया है कि निर्देश दिए कि जो भी दोषी है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. 

बच्चों के झगड़े में SC/ST एक्ट में केस दर्ज, डर से जिंदा जल गई फौजी की बीवी, मौत

परिवार वालों का कहना है कि पूरे प्रकरण में पुलिस में पुलिस का लापरवाही देखी गई है लेकिन कार्रवाई सिर्फ चौकी इंचार्ज योगेश कुमार के खिलाफ हुई है. एसएसपी ने चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर किया है. परिजनों का कहना है कि अधिकारी लापरवाह पुलिस कर्मियों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं. अधिकारी उनकी गलती पर कितना भी पर्दा डाल लें वे खामोश नहीं रहेंगे. इसकी शिकायत ऊपर तक जाएगी.

मामले की शुरुआत छोटी सी बात से हुई थी जिसके बाद विवाद पुलिस चौकी तक जा पहुंचा. बताया जा रहा है कि पुलिस चौकी में संगीता के साथ काफी बदस्लूकी की गई जिसके बाद सुनीता ने परेशान होकर खुद को आग लगा ली. अंतिम संस्कार के दौरान भाजपा विधायक रामप्रताप सिंह चौहान, भाजपा विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल, पूर्व विधायक डॉक्टर धर्मपाल सिंह आदि मौजूद रहे. वहीं पूर्व मंत्री राजा अरिदमन सिंह और भाजपा विधायक रानी पक्षालिका सिंह रिटायर्ड फौजी से मिलने उनके घर पहुंचे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें