ज्वलनशील पदार्थ जलाये गये जूता कारीगर की मौत, 7 दिन बाद नहीं पकड़ा गया आरोपी

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 9:17 AM IST
  • आगरा में कुछ दिनों पहले जूता कारिगर और उसके तीन बच्चों पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा ज्वलशील पदार्थ डाल दिया गया था, जिसमें चारों ही बुरी तरह से झुलस गए थे. रविवार की सुबह जूता कारीगर की इलाज के दौरान ही मौत हो गई, जबकि तीनों बच्चों का इलाज अभी भी जारी है.
जूता कारीगर की इलाज के दौरान ही मौत हो गई, जबकि तीनों बच्चों का इलाज अभी भी जारी है

आगरा. आगरा में कुछ दिनों पहले जूता कारिगर और उसके तीन बच्चों पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा ज्वलशील पदार्थ डाल दिया गया था, जिसमें चारों ही बुरी तरह से झुलस गए थे. बताया जा रहा है कि यह कार्य पत्नी को भगाकर ले गए पड़ोसी ने पुलिस तक शिकायत पहुंचने से पहले किया था. आरोपी ने ज्वनशील पदार्थ डालकर चारों को आग के हवाले कर दिया था. चारों का अस्पतला में ही इलाज चल रहा था, लेकिन रविवार की सुबह जूता कारीगर की मौत हो गई.

वहीं, जूता कारीगर के तीनों बच्चे अभी भी जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं. हैरान करने वाली बात तो यह है कि मामले को हुए करीब सात दिन बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस द्वारा अभी तक आरोपियों को नहीं ढूंढा जा सका है. वहीं, पुलिस की लापरवाही को लेकर जूता कारीगर के रिश्तेदार पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगा रहे हैं. वहीं, मामले में आरोपी का नाम सरजू बताया जा रहा है, जो जूता कारीगर सोनू की पत्नी को बहला-फुसलाकर घर से भगा ले गया.

पत्नी को घर से भगा ले जाने के पर सोनू ने मलपुरा थाने में जाकर सरजू के खिलाफ शिकायत की थी, लेकिन पुलिस द्वारा कार्रवाई का कोई कदम नहीं उठाया गया. वहीं, दूसरी तरफ सोनू पुलिस में शिकायत करने से बुरी तरह बौखला गया, जिसके बाद उसने तीन जनवरी की सुबह करीब चार बजे सोनू हमला बोल दिया. सरजू ने सोनू और उसके तीनों बच्चों के ऊपर घर में सोते हुए ज्वलनशील पदार्थ डाल दिया और उन्हें आग के हवाले कर वहां से भाग गया. सोनू के बहनोई ने आरोपी और उसके दोस्त के खिलाफ जानलेवा हमला करने की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराया, लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें