आगरा

आगरा में बैठा रहा व्यक्ति, मुंबई-नोएडा में कार्ड से हो गई 51 हजार की शॉपिंग

Smart News Team, Last updated: 09/06/2020 08:09 PM IST
  • कोरोना लॉकडाउन के दौरान टीला माईथान (हरीपर्वत) में एक कारीगर के खाते से मुंबई और नोएडा में साइबर शातिरों ने खरीदारी कर ली। शातिरों ने कई बार में खाते से 51 हजार रुपये की खरीदारी कर ली।
लॉकडाउन में खाते से कई बार में हुई 51 हजार की खरीदारी

कोरोना वायरस संकट के दौर में साइबर क्राइम की घटनाएं भी बढ़ गई हैं। आगरा में साइबर अपराध का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक व्यक्ति आगरा में बैठा रहा व्यक्ति और उसके कार्ड से मुंबई और नोएडा में शॉपिंग हो गई। दरअसल, कोरोना लॉकडाउन के दौरान टीला माईथान (हरीपर्वत) में एक कारीगर के खाते से मुंबई और नोएडा में साइबर शातिरों ने खरीदारी कर ली। शातिरों ने कई बार में खाते से 51 हजार रुपये की खरीदारी कर ली। जब पीड़ित की पत्नी एक जून को बैंक से पैसे निकालने गई तो उसके होश उड़ गए। थाना हरीपर्वत में मामले की शिकायत की गई है।

मूलत: संत कबीर नगर निवासी मिथिलेशजा त्रिपाठी 30 वर्षों से थाना हरीपर्वत के टीला माई थान में परिवार के साथ रहते हैं। मिथिलेशजा आगरा में एक आर्टिफिशियल ज्वेलरी के कारखाने में काम करते हैं। उनका एसबीआई की सेब का बाजार शाखा में खाता है। पीड़ित का कहना है कि उनकी पत्नी एक जून को बैंक में पैसे निकालने गई थीं। बैंक वालों ने बताया कि आपके खाते में 16 हजार रुपये हैं। इसके बाद मिथिलेशजा बैंक पहुंचे। उन्होंने खाते की जानकारी ली तो पता चला कि नवी मुंबई और नोएडा में उनके कार्ड से खरीदारी की गई है। खरीदारी कई बार में कुल 51 हजार रुपये की हुई है। थाना हरीपर्वत में मामले की शिकायत की है।

ऐप डाउनलोड करा खाते से निकाले साढ़े बाहर हजार रुपये

सदर क्षेत्र में साइबर शातिरों ने एक महिला के फोन में एनीडेस्क ऐप डाउनलोड कराकर साढ़े बाहर हजार रुपये की ठगी कर ली। पीड़ित महिला ने थाना सदर में मामले की तहरीर दी है। पुलिस ने साइबर सेल को मामला भेज दिया है।

सदर क्षेत्र में एक महिला अपने परिवार के साथ रहती है। सदर पुलिस को दी गई तहरीर में महिला ने बताया कि उन्होंने कुछ दिन पहले एक ऑनलाइन शॉपिंग साइट से कोई सामान मंगाया था। सामान पसंद न आने पर वह वापस किया था। पैसे रिफंड करने के लिए महिला ने कस्टमर केयर पर कॉल किया था। कुछ देर बाद एक अनजान नंबर से कॉल आया। 

कॉल करने वाले ने खुद को कंपनी का कर्मचारी बताया। शातिर ने पहले तो पैसे रिफंड करने के लिए महिला से उनके खाते की जानकारी मांगी, लेकिन महिला ने जानकारी देने से इनकार कर दिया। इसके बाद आरोपित ने महिला के फोन पर एक लिंक भेजा। जिसमें एक ऐप डाउनलोड करने के लिए कहा गया। महिला ने जैसे ही वह ऐप डाउनलोड किया, वैसे ही उनका फोन रिमोट मोड पर चला गया। इसके बाद शातिर ने तीन बार में महिला के खाते से 12,500 रुपये निकाल कर एक पेटीएम में ट्रांसफर कर लिए। अपने मोबाइल को देख महिला के होश उड़ गए। उन्होंने फोन बंद कर दिया। महिला ने थाना सदर में मामले की शिकायत की है।

अन्य खबरें