आगरा के ज्योतिषाचार्य का दावा- कांग्रेस पर राहु के गोचर से पार्टी की दुर्दशा

Smart News Team, Last updated: 16/07/2020 08:07 PM IST
  • आगरा के ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र ने ज्योतिषीय गणना के आधार पर दावा किया है कि 19 सितंबर, 2020 तक कांग्रेस के अच्छे दिन नहीं आने वाले हैं क्योंकि राहु पार्टी की दुर्दशा कर रहा है।
राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार अपने ही डिप्टी सीएम सचिन पायलट को हटा चुकी है और पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष पद से भी उनकी छुट्टी कर दी है।

आगरा. आगरा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र ने दावा किया है कि कांग्रेस पार्टी के अंदर जो घमासान मचा हुआ है वो सब पार्टी की राशि मिथुन पर चल रहे राहु के गोचर के कारण हो रहा है। डॉ. मिश्र की ज्योतिषीय गणना है कि कांग्रेस पार्टी की राशि पर राहु का गोचर 19 सितंबर, 2020 तक चलेगा। ज्योतिषाचार्य डॉ .अरविंद मिश्र का मानना है कि 19 सितंबर, 2020 के बाद कांग्रेस पार्टी के अंदर चल रही कलह में कमी आएगी और बाहर भी उसकी स्थिति ठीक होगी। 

कांग्रेस हाल में ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में जाने से मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार गंवा चुकी है जबकि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार पर अल्पमत में जाने का खतरा लटक रहा है। डिप्टी सीएम और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए गए सचिन पायलट कैंप के विधायकों की संख्या पार्टी नेतृत्व के लिए चिंता की बात है।

लखनऊ-नोएडा के बाद क्या आगरा में लागू होगा पुलिस कमिश्नर सिस्टम ? विभाग में हलचल

ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र के मुताबिक 6 अप्रैल, 2019 से ही कांग्रेस पार्टी की राशि मिथुन पर राहु आ गया था जो 19 सितंबर, 2020 तक रहेगा। उनका मानना है कि कांग्रेस पार्टी के अंदर आपसी मतभेद और गुटबाजी का खुला खेल इसी वजह से हो रहा है क्योंकि राहु पार्टी को जबर्दस्त नुकसान पहुंचा रहा है। डॉ. मिश्र कहते हैं कि 19 सितंबर, 2020 के बाद ज्योतिषीय गणना से कांग्रेस के दिन ठीक होंगे लेकिन बीजेपी पर राहु का ग्रहण लग जाएगा।

कोरोना काल की बकरीद: आगरा में ऑनलाइन सजा बकरा बाजार, 'सलमान' की ज्यादा डिमांड

डॉ. मिश्र ने बताया है कि 19 सितंबर, 2020 के बाद बीजेपी की राशि वृष पर राहु आ जाएगा और भाजपा पर ग्रहण लग जाएगा। वृश्चिक राशि में केतु आएगा जिसकी सप्तम दृष्टि वृष राशि पर रहेगी। ज्योतिषाचार्य की गणना है कि सितंबर से आगे के 15 महीने बीजेपी के लिए मुश्किल भरे साबित हो सकते हैं क्योंकि राहु पार्टी के लिए अहितकर हालात पैदा कर सकता है।

ताजनगरी में ये कैसी सुनवाई? सौतेले पिता ने किया रेप, 3 बार गई थाने तो भगा दी गई

अन्य खबरें