आगरा: चालान से बचने को बदल रहे वाहन का नंबर तो होगा नुकसान, जानें कैसे

Smart News Team, Last updated: 29/08/2020 09:44 AM IST
  • आगरा में ऑनलाइन चालान से बचने के लिए लोग अपने वाहनों के नंबर बदल रहे हैं. हालांकि इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है. लोग पूरा नंबर ना बदलकर एक दो नंबर ही आगे-पीछे कर रहे हैं जिससे उन्हीं को नुकसान हो रहा है.
आगरा: चालान से बचने को बदल रहे वाहन का नंबर तो होगा नुकसान, जानें कैसे

आगरा. आगरा में की ऐसे केस मिल रहे हैं जिनमें वाहन के कागजों और वाहन की नंबर प्लेट पर अलग-अलग नंबर लिखे हैं. दरअसल, लोग ऑनलाइन चालान से बचने के लिए अपने वाहन की नंबर प्लेट पर फर्जी नंबर लिख रहे हैं. हालांकि ये भी जानकारी मिली है कि ये नंबर पूरी तरह नहीं बदले जा रहे हैं लेकिन इनके कुछ ही अक्षरों या नंबरों में हेरफेर की जा रही है. कई वाहन पकड़े गए हैं जो एक अक्षर या शब्द बदल देते हैं.

लोग अपने वाहनों के नंबर इसलिए बदल रहे हैं ताकि उनके पास ऑनलाइन चालान ना पहुंचे. ऐसे कई मामले ट्रैफिक पुलिस के सामने आ रहे हैं. शुक्रवार को भी आगरा के हरीपर्वत पुलिस ने कैलाशपुरी मार्ग पर ऐसा एक वाहन पकड़ा जिसमें युवक ने बाइक के नंबर में फेरबदल किया हुआ था. पुलिस ने फर्जी नंबर लिखा होने पर बाइक सीज कर ली, युवक का 13 हजार रुपये का चालान किया और उस पर धोखाधड़ी का मुकदमा भी लिख गया.

सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के आगरा सेंट क्लेयर स्कूल एलबम से EXCLUSIVE

शुक्रवार को ट्रैफिक पुलिस ने कैलाशपुरी मार्ग स्थित बसंत गार्डन के पास चेकिंग की. इस दौरान जांच के लिए पुलिस ने एक पल्सर सवार को रोका. रोकने पर बाइक सवार ने अपना नाम सलीम निवासी कटघर, लोहामंडी बताया. पुलिस ने बाइक के कागजात चेक किए जिसपर युवक ने बताया कि बाइक उसके भाई सईद के नाम पर है. लेकिन पुलिस ने जांच में पाया कि कागज में जो नंबर है बाइक पर उससे अलग नंबर लिखा है.

आगरा: कोरोना काल में पत्नी हुई बेरोजगार तो पति छोड़कर भागा

बाइक की आरसी पर बाइक का नंबर यूपी 80 सीयू-1884 लिखा हुआ था. हालांकि बाइक पर लगी नंबर प्लेट पर नंबर यूपी 80 सीडब्ल्यू-1884 लिखा था. पुलिस कागज देख कर समझ गई कि ऑनलाइन चालान से बचने के लिए युवक ने नंबर प्लेट पर यू की जगह डब्ल्यू लिखा दिया था. इसी के बाद पुलिस ने कार्रवाई की और बाइक जब्त करके जुर्माना और मुकदमा दर्ज किया. पुलिस ने बताया कि ऐसा ही एक मामला पिछले दिनों सेंट जोंस चौराहे पर पकड़ा गया था. उस मामले में भी मुकदमा दर्ज हुआ था. लोगों को इस तरह की धोखाधड़ी ऑनलाइन चालान से भी महंगी पड़ रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें