आगरा में एक्यूआई पहुंचा 417, जहरीली हवा से हुई गले में परेशानी

Smart News Team, Last updated: Sun, 8th Nov 2020, 6:42 PM IST
  • बीते शनिवार को आगरा की हवा बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंचकर दमघोंटू हो गई. हैरान करने वाली बात तो यह है कि यहां बेहद खतरनाक सूक्ष्म कण पार्टिकुलेट मैटर की मात्रा सबसे उच्चतम स्तर यानी 499 तक पहुंच गई, जो सामान्य से 8 से 9 गुना तक ज्यादा थी.
आगरा में दिन पर दिन हवा खराब होती जा रही है

आगरा: ताजनगरी की हवा दिन पर दिन और खतरनाक होती जा रही है. हवा में प्रदूषण का स्तर इस कदर बढ़ गया है कि यहां सांस लेना भी मुश्किल हो रहा है. खसाकर बीते शनिवार को आगरा की हवा बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंचकर दमघोंटू हो गई. हैरान करने वाली बात तो यह है कि यहां बेहद खतरनाक सूक्ष्म कण पार्टिकुलेट मैटर की मात्रा सबसे उच्चतम स्तर यानी 499 तक पहुंच गई, जो सामान्य से 8 से 9 गुना तक ज्यादा थी. वहीं, हवा में कार्बन मोनोऑक्साइड की मात्रा भी सामान्य से 46 गुना ज्यादा पहुंच गई.

बताया जा रहा है कि आगरा में मिक्सिंग हाइट के नीचे आ जाने से यहां की हवा जहरीले गैस चेंबर में तब्दील हो गयी है. जहां एयर क्वालिटी इंडेक्स आगरा में 417 पर पहुंच गया था तो वहीं रात 9 बजे यहां का एक्यूआई 444 पर था. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने आगरा को लेकर आंकड़े भी जारी किये, जिसमें बताया गया कि पूरे दिन ही आगरा की हवा की गुणवत्ता बेहद गंभीर श्रेणी में बनी रही. हवा के प्रदूषित होने के कारण यहां लोगों की आंखों में जलन और गले में खराश के साथ नाक में धूल कणों के पहुंचने से छींकने की शिकायतें ज्यादा सामने आ रही हैं.

यूपी में अब नहीं रुलाएंगे महंगी प्याज के दाम, कालाबाजारी पर एक्शन में योगी सरकार

पूरे दिन प्रदूषण के कारण आगरा में सुबह के साथ दिन में सर्द

सुबह धुंध और कोहरा छाने के साथ स्मॉग की चादर तनी रही. इसके साथ ही जिले में दिनभर बादलों के छाए रहने से तापमान सामान्य से दो डिग्री नीचे रहा. बता दें कि आगरा में शनिवार को अधिकतम तापमान 29.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 14.3 डिग्री दर्ज किया गया. जहां जिले में दिन में दृश्यता 650 मीटर तक रही, तो वहीं शाम को 5 बजे सिकंदरा में दृश्यता केवल 350 मीटर ही दर्ज की गई. मौसम विभाग के पूर्वानुमान केंद्र के मुताबिक अगले तीन दिनों में धुंध और कोहरा छाया रहेगा, जिससे दिन में तापमान में और कमी आने के आसार हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें