आगरा के बाजारों में करवाचौथ पर दिखी रौनक, एक दिन में 26 करोड़ का कारोबार

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 07:47 PM IST
  • करवाचौथ की असली रौनक आगरा के बाजारों में भी खूब देखने को मिल रही है. मिठाइयों से लेकर कपड़े, कॉस्मेटिक और ब्यूटी पार्लर्स, हर जगह महिलाओं की खूब भीड़ देखने को मिल रही है. खास बात तो यह है कि कोरोना के बीच भी करवाचौथ के इस खास मौके पर 26 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है.
 आगरा में कोरोना के बीच भी करवाचौथ के इस खास मौके पर 26 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है

आगरा: करवाचौथ की असली रौनक आगरा के बाजारों में भी खूब देखने को मिल रही है. मिठाइयों से लेकर कपड़े, कॉस्मेटिक और ब्यूटी पार्लर्स, हर जगह महिलाओं की खूब भीड़ देखने को मिल रही है. खास बात तो यह है कि कोरोना के बीच भी करवाचौथ के इस खास मौके पर 26 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है. करवाचौथ के कुछ दिनों पहले से ही आगरा के बाजारों में यह रौनक देखने को मिल रही है. वहीं, जैसे-जैसे करवाचौथ नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे बाजारों में भीड़ भी बढ़ती ही जा रही है.

आगरा की राजामंडी, सिंधी बाजार, फव्वारा, लुहार गली, शाहगंज, लोहामंडी जैसे प्रमुख बाजारों में सोमवार देर रात तक खरीदारी की गई. सोमवार को भीड़ में इस कदर इजाफा हुआ कि बाजारों में पैर रखने तक की जगह नहीं थी. साड़ी से लेकर आभूषण और कॉस्मेटिक तक की दुकानों पर ग्राहक छाए हुए थे. इस बारे में बात करते हुए कारोबारी अनुराग बंसल ने कहा कि शहर में आभूषणों की 500 से अधिक दुकाने हैं. इस बार करवाचौथ पर सबसे ज्यादा हल्के आभूषणों की बिक्री हुई है. त्योहार के इस खास मौके पर अनुमानित 15 करोड़ का कारोबार हुआ है, जो किबीते वर्ष से 10 फीसदी अधिक है.

आगरा में बीते पांच साल में सबसे ठंडे नवंबर का आगाज, छाई रहेगी धुंध

कपड़ों की बात करें तो आगरा क्लॉथ मर्केंटाइल एसोसिएशन के महामंत्री संजय अग्रवाल ने बताया कि लोगों इस बार सबसे ज्यादा लाल रंग की साड़ियां और लहंगे खूब खरीदे. ऐसे में सोमवार को औसतन पांच करोड़ रुपये की बिक्री हुई है, जो पिछले साल से 15 फीसदी अधिक है. वहीं, कॉस्मेटिक के सामान की भी इस बार खूब खरीदारी की गई. बाजारों में बिंदी, नेलपॉलिश, चूड़ियों की जमकर बिक्री हो रही है. ऐसे में केवल कॉस्मेटिक का ही औसतन चार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है. खास बात तो यह है कि इस बार की बिक्री बीते वर्ष की बिक्री से ज्यादा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें