ताजमहल में फिर हुई टिकटों की कालाबाजारी, वीकेंड पर मायूस लौटे पर्यटक

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 06:32 PM IST
  • आगरा के ताजमहल की टिकट की एक बार फिर से कालाबाजारी शुरू हो चुकी है. बताया जा रहा है कि बीते रविवार को ताजमहल के 5000 टिकट 11:30 बजे तक बिक चुके थे, लेकिन केवल 4302 लोग ही ताजमहल का दीदार कर पाए.
फाइल फोटो

आगरा. आगरा में जहां एक तरफ कोरोना वायरस के कारण लोग ताजमहल का दीदार नहीं कर पा रहे हैं तो वहीं दूसरी और लपके भी लगातार ताजमहल देखने के लिए लोगों की राह में पत्थर बनते जा रहे हैं. दरअसल, आगरा के ताजमहल की टिकट की एक बार फिर से कालाबाजारी शुरू हो चुकी है. बताया जा रहा है कि बीते रविवार को ताजमहल के 5000 टिकट 11:30 बजे तक बिक चुके थे, लेकिन केवल 4302 लोग ही ताजमहल का दीदार कर पाए.

5000 लोगों में से केवल 4302 लोग ही ताजमहल को देखने पहुंचे, वहीं 698 लोगों की टिकटें बची रह गईं. इस मामले को लेकर पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों ने कहा कि इन टिकटों को लपकों ने बुक कर लिया था और वह बाद में इसे ब्लैक करते हैं. जितनी टिकटें लपकें नहीं बेच पाते हैं, उतने सैलानी ताजमहल नहीं देख पाते हैं. इस मामले को लेकर कई बार उपाय भी किया गया, लेकिन एक भी कारगर साबित नहीं हो पाया.

अब ट्विटर और यूट्यूब पर ट्रैफिक अपडेट देगी आगरा पुलिस, जाम से मिलेगी राहत

ताजमहल देखने पहुंचे दिल्ली के पर्यटक नीरज श्रीवास्तव ने बताया कि वह आठ घंटे का रास्ता तय करके दिल्ली से आगरा पहुंचे, लेकिन यहां आकर उन्हें ताजमहल का टिक नहीं मिल पाया, जिससे उन्हें केवल किला देखकर ही वापस लौटना पड़ा. बता दें कि यात्रियों की सुविधा के लिए लगातार ताजमहल की टिकटों को लेकर नए-नए ट्रायल किये जा रहे हैं, लेकिन इनमें से एक भी उपाय ऐसा साबित नहीं हो पाया है, जो टिकट की कालाबाजारी रोकने के साथ-साथ पर्यटकों को भी लाभ पहुंचाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें