दंपति ने गोद लेने के 4 माह बाद लौटाया बच्चा, अब इटली के दंपती जा रहे हैं अपनाने

Smart News Team, Last updated: Sat, 6th Feb 2021, 3:02 PM IST
  • आगरा में एक बच्चे को बिहार के रहने वाले दंपती ने गोद लिया था, लेकिन दत्तक पुत्र के साथ उनका तालमेल नहीं बैठा, जिसके बाद उन्होंने बच्चे को चार महीने बाद ही वापस लौटा दिया. हालांकि, अब उसे इटली के दंपती गोद ले रहे हैं.
गोद लेने के 4 माह बाद लौटाया बच्चा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आगरा में एक बच्चे को बिहार के रहने वाले दंपती ने गोद लिया था, लेकिन दत्तक पुत्र के साथ उनका तालमेल नहीं बैठा, जिसके बाद उन्होंने बच्चे को चार महीने बाद ही वापस लौटा दिया. लेकिन किस्मत का खेल ऐसा कि अब उस बच्चे को इटली के एक दंपती ने गोद ले लिया है. बच्चे की उम्र करीब नौ वर्ष है, जो कि काफी सालों से राजकीय शिशु गृह में रह रहा था. दिसंबर माह, 2019 में उसे बिहार के एक दंपती ने गोद ले लिया था, जिसके चार महीने बाद ही उन्होंने बच्चे को वापिस कर दिया.

बिहार के दंपती ने बताया कि बच्चे के साथ उनका तालमेल नहीं बैठ रहा था, ऐसे में वह उसे अपने साथ नहीं रख सकते हैं. बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब विदेशी दंपती ने भारतीय बच्चों को गोद लिया था. ऐसा ही मामला एक मासूम बच्ची के साथ भी हुआ था, जिसे जन्म के बाद ही अपनों द्वारा त्याग दिया गया था. लेकिन बच्ची की तकदीर उसे सात समुंदर पार ले गई. उसे ब्रिटिश दंपति ने गोद ले लिया. इससे पहले शिशु एवं बाल गृह से एक वर्ष पहले फिरोजाबाद भेजे गए बच्चों को भी दक्षिण अफ्रीका के एक दंपती ने गोद लेने की इच्छा जताई थी.

आगरा: खनन माफिया से जुड़े होने पर चार पुलिसकर्मी निलंबित, रिश्वत की करी थी मांग

बताया जा रहा है कि तीनों बच्चों को गोद लेने के लिए विदेशी दंपतियों ने सेंट्रल एडॉप्शन रिसोर्स अथारिटी (कारा) के माध्यम से आवेदन किया है. ऐसे में विदेशी दंपती से बालक की मैचिंग कराई जाएगी और उसके बाद ही उसे गोद देने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा. इसके अलावा वहां रह रहे बाकी बच्चों की भी दंपतियों से मैचिंग कराने के बाद ही उन्हें गोद दिया जाएगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें