आगरा-मथुरा में हुई बूंदाबांदी, ठंडी हवा के कारण जिले में बढ़ी ठिठुरन

Smart News Team, Last updated: 26/11/2020 09:54 PM IST
  • आगरा में बूंदाबांदी के साथ एकाएक सर्दी बढ़ गई, जिससे यहां लोग भी ठिठुरते हुए दिखाई दिए. बताया जा रहा है कि सुबह से ही आगरा और मथुरा में मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ था और सुबह से ही यहां बादल भी छाए हुए थे.
आगरा में बूंदाबांदी के साथ एकाएक सर्दी बढ़ गई

आगरा: आगरा में दिन पर दिन पारा गिरता ही जा रहा है. अब तो आगरा और उससे सटे मथुरा में ठंड के साथ-साथ हल्की बूंदाबांदी भी होती रही, जिससे जिले में एकाएक पारा गिर गया. उत्तर प्रदेश के जिले आगरा में बूंदाबांदी के साथ एकाएक सर्दी बढ़ गई, जिससे यहां लोग भी ठिठुरते हुए दिखाई दिए. बताया जा रहा है कि सुबह से ही आगरा और मथुरा में मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ था और सुबह से ही यहां बादल भी छाए हुए थे.

आगरा में गुरुवार को बारिश के बाद अधिकतम तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखने को मिली. बताया जा रहा है कि पांच सालों से लगातार नवंबर का आखिरी सप्ताह काफी ठंडा रहा है. मौसम विभाग के अनुसार आगरा और उसके आस-पास के क्षेत्रों में अगले तीन दिनों तक सुबह कोहरा छाए रहने की आशंका है. हालांकि, बताया जा रहा है कि धुंध और कोहरे के बाद दोपहर में आसमान साफ रहेगा. इसके साथ ही जिले में न्यूनतम तापमान और अधिकतम तापमान में भी सामान्य से दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट हो सकती है.

किसान आंदोलन में शामिल मेधा पाटकर को पुलिस ने रोका, दिल्ली हुई थीं रवाना

रिपोर्ट के अनुसार पहाड़ों पर पश्चिमी विक्षोभ के कारण भारी बर्फबारी हुई, जिससे मैदानी क्षेत्रों में भी शीतलहर के साथ बारिश हुई. दो घंटे तक लगातार बारिश होने के कारण यहां सर्दी बढ़ गई है. सर्दी बढ़ने के साथ-साथ आगरा में प्रदूषण का स्तर भी बढ़ता जा रहा है. लेकिन बारिश के कारण माना जा रहा है कि आगरा में प्रदूषण के स्तर में गिरावट आ सकती है. ऐसा ही हाल दिवाली के अगले दिन भी देखने को मिला था, जब बारिश के कारण आगरा वासियों को प्रदूषण से राहत मिली थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें