कर्ज चुकाने के लिए शख्स ने किया अपना ही अपहरण, परिवार से की 50 हजार रु. की मांग

Smart News Team, Last updated: 10/10/2020 12:46 PM IST
  • आगरा में शख्स ने 50 हजार का कर्ज उतारने के लिए अपने ही अपहरण की कहानी रच डाली. इस मामले में उसका ममेरा भाई भी उसके साथ शामिल था. हालांकि, पुलिस ने 2 घंटे के अंदर-अंदर ही मामले की जांच कर पोल खोल दी.
आगरा में अपहरण की झूठी कहानी बनाने का मामला सामने आया है

आगरा में थाना एतमाद्दौला के पास अपने ही अपहरण की झूठी कहानी बनाने का मामला सामने आया है. अपहरण की यह झूठी कहानी कर्ज उतारने के लिए बनाई गई. दरअसल, एत्माद्दौला थाना के दुर्गा नगर निवासी ने गौरव ने कर्ज चुकाने के लिए अपने ही अपहरण की झूठी कहानी बनाई. हालांकि, पुलिस को जांच के दौरान गौरव दो घंटे में ही मिल गया और सख्ती से कार्रवाई करने पर शख्स ने कबूल किया कि अपहरण की कहानी उसने खुद ही बनाई थी.

थाना एत्माद्दौला के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि

बीते दिन करीब साढ़े सात बजे पुलिस को गौरव के अपहरण की खबर मिली थी. पुलिस को बताया गया था कि गौरव और उसका ममेरा भाई मोमोस लेकर लौट रहे थे तभी कुछ बाइक सवार युवकों ने उसे दबोच लिया और जबरन अपने साथ ले गए. इसके साथ ही गौरव के नंबर से फोन करके परिवार से 50 हजार रुपये की मांग भी की गई. मामले की जांच में लगी पुलिस ने गौरव की लोकेशन ढूंढ निकाली, जो कि बार-बार चेंज भी हो रही थी. लेकिन करीब साढ़े नौ बजे रात को पुलिस ने गौरव को पकड़ लिया.

दशहरा, दिवाली के लिए UP सरकार की गाइडलाइंस, जानें कोरोना में त्योहारों के नियम

पुलिस के मुताबिक 50 हजार की फिरौती की मांग उनके गले से नहीं उतर रही थी और ऐसे में जब गौरव पर सख्ती बरती गई तो उसने अपने आप ही सारा सच उगल दिया. इस मामले में गौरव के साथ उसका ममेरा भाई भी शामिल था. बता दें कि गौरव 50 हजार रुपये से अपना कर्ज चुकाना चाहता था. क्योंकि लॉकडाउन के दौरान उसकी नौकरी चली गई थी. अपहरण की झूठी कहानी बनाने के लिए गौरव ने खुद ही अपने कपड़े फाड़ लिये थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें