आगरा

रोड सेफ्टी टिप्स: आगरा यमुना एक्सप्रेसवे पर ऐसे कार रोकते व लूट लेते हैं अपराधी

Smart News Team, Last updated: 26/07/2020 02:03 PM IST
  • इसलिए एक्सप्रेसवे पर अपनी गाड़ियों से ट्रेवल करने के दौरान सवारियों को इन बातों का जरूर ख्याल रखना चाहिए।
आगरा-यमुना एक्सप्रेसवे पर ऐसे कार रोकते-लूटते हैं क्रिमिनल, जानें कैसे बचा जाए

अगर आप आगरा यमुना एक्सप्रेसवे पर चलते हैं तो आपको अधिक सावधान रहने की जरूरत है। साथ ही यह जानने की जरूरत है कि इस एक्सप्रेसवे पर खुद को कैसे सुरक्षित रखा जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि यमुना एक्सप्रेसवे पर नोएडा से लेकर आगरा तक वाहनों को पंचर कर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले क्रिमिनल काफी एक्टिव हैं। वो इस कदर यमुना एक्सप्रेसवे की गाड़ियों को टारगेट करते हैं कि आपको पता भी नहीं चलेगा और आपके साथ बड़ा कांड हो जाएगा। बहरहाल, पुलिस ने बावरिया गिरोह के एक कुख्यात बदमाश को गिरफ्तार किया है।

बावरिया गैंग का कुख्यात बदमाश गिरफ्तार, वाहनों को पंचर कर सवारियों को लूटता था

उस बदमाश से पूछताछ में जो जानकारी सामने आई है, वो आपके होश उड़ा देंगे। यह बावरिया गिरोह यमुना एक्सप्रेस वे पर वाहनों को पंक्चर करके सवारियों से न सिर्फ लूट की वारदात को अंजाम देता है, बल्कि सवारियों के साथ कुकर्म भी करता है। हालांकि, इस मामले में पुलिस को सफलता हाथ लगी है और इस गिरोह के एक कुख्यात बावरिया को नोएडा एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। 

इसलिए एक्सप्रेसवे पर अपनी गाड़ियों से ट्रेवल करने के दौरान सवारियों को इन बातों का जरूर ख्याल रखना चाहिए।

  • हाईवे पर रात को गाड़ी अचानक पंचर हो जाए तो सुनसान स्थान पर गाड़ी से नहीं उतरें।
  • पहले गाड़ी के अंदर ही कुछ देर तक रुके रहें। यह देखें कोई आ तो नहीं रहा है। बेहतर होगा तत्काल टोल फ्री नंबर पर सूचना दें।
  • मजबूरी में उतरना पड़े तो एक ही सदस्य पहले बाहर निकले। फोन पर तेज-तेज आवाज में ऐसे बात करे जैसे कोई परिचित पास में ही है। जैसे उसकी बातचीत पुलिस से हो रही है। पुलिस मदद के लिए आने वाली है।
  • बावरिया गिरोह ऐसी वारदातें हिंदू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की तृतीया से पंचवीं, दशमी से द्वादशी के मध्य करता है। इन तिथियों पर यात्रा के दौरान बेहद सतर्क रहें।
  • एक्सप्रेसवे पर काफी सतर्क होकर गाड़ी चलाएं। राही बनकर भी ये लोग लूट सकते हैं।

एक्सप्रेसवे पर इस तरीके से वारदात को देते हैं अंजाम

हड़कंप: फार्म हाउस में चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा, 3 लड़की समेत 12 गिरफ्तार

बावरिया गिरोह के सदस्य हाईवे से गुजरने वाले चार पहिया वाहनों को अपना निशाना बनाया करते हैं। गैंग दो टीमों में बंट जाता है। एक टीम एक्सप्रेस वे पर गाड़ियां पंचर करने के लिए उपकरण लगाती है। जो टॉयर किलर जैसा होता है। लोहे की भारी पत्ती में नुकीली कीलें निकलीं होती हैं। टायर किलर का एक सिरा पतली डोरी या तार से बंधा होता है। जिससे गाड़ी पंचर होते ही बदमाश उसे तत्काल हाईवे से खींच लिया करते हैं। 

खेत बिकवाए, मकान पर कब्जा फिर जान की दी धमकी, कहानी मजनू को लूटने वाली लैला की

गाड़ी पंचर होते ही उसमें सवार लोग जब नीचे उतरते हैं तो झाड़ियों में छिपे बदमाश उन्हें देखते हैं। वे कितने लोग हैं। कोई पुलिस कर्मी तो नहीं है। यह देखने के बाद अपने गैंग की दूसरी टुकड़ी को फोन पर सूचित करते हैं। वे हाईवे किनारे से निकलकर बाहर आती है। लूटपाट करती है। बदमाश मोबाइल, लैपटॉप, जेवरात, घड़ी, नकदी आदि सामान लूट लिया करते हैं। 

अन्य खबरें