आगरा में जहरीली हुई हवा, देश के प्रदूषित शहरों में छठे नंबर पर पहुंची ताजनगरी

Smart News Team, Last updated: Tue, 20th Oct 2020, 9:11 PM IST
  • देश के सबसे प्रदूषित शहरों में आगरा जहां बीते शनिवार को 14वें नंबर पर रहा तो वहीं बीते रविवार को प्रदूषण के मामले में आगरा शहर छठे नंबर पर रहा. दिन पर दिन आगरा की हवा जहरीली होती जा रही है, जिससे यहां रहने वालों लोगों की परेशानी भी बढ़ती ही जा रही है.
ताज नगरी बनी प्रदूषित नगरी

आगरा.आगरा में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. खासकर बीते रविवार को आगरा की हवा सबसे ज्यादा जहरीली पाई गई है. देश के सबसे प्रदूषित शहरों में आगरा जहां बीते शनिवार को 14वें नंबर पर रहा तो वहीं बीते रविवार को प्रदूषण के मामले में आगरा शहर छठे नंबर पर रहा. दिन पर दिन आगरा की हवा जहरीली होती जा रही है, जिससे यहां रहने वालों लोगों की परेशानी भी बढ़ती ही जा रही है. बताया जा रहा है कि आगरा के बढ़ते प्रदूषण का कारण यहां होने वाले कंसट्रक्शन के काम के कारण है.

बाबा का ढाबा के बाद रोटी वाली अम्मा! 20 रुपए में पेट भरने वालीं आज खुद परेशान

आगरा में जल निगम द्वारा की जा रही सीवर लाइन की खोदाई के कारण धूल के कड़ हवा में मिल रहे हैं, जिससे सांस के रोगियों को भी काफी परेशानी हो रही है. हैरान करने वाली बात तो यह है कि नोटिस देने के बाद भी जल निगम ने ठेकेदारों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है. वहीं, दूसरी तरफ टीटीजेड अथॉरिटी के चेयरमैन और कमिश्नल के साथ सांसद प्रो. एसपी बघेल भी खोदाई में उड़ने वाली धूल को ही प्रदूषण का जिम्मेदार मान रहे हैं.

बीते रविवार को ताजनगरी आगरा में धूल कड़ों की मात्रा 376 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रही, जो कि सामान्य से छह गुना ज्यादा है. शहर में कार्बन मोनो ऑक्साइट की मात्रा भी सामान्य से 33 गुना ज्यादा दर्ज की गई. इससे इतर नाइट्रोजन डाईऑक्साइड और स्लफर डाइऑक्साइड भी सामान्य से करीब 3 गुना ज्यादा रहा. बताया जा रहा है कि दोपहर 2 बजे तक शहर में धूल के कणों की मात्रा अधिक रही. 2 बजे से 4 बजे तक प्रदूषण की मात्रा थोड़ी कम जरूर हुई, लेकिन शाम छह बजे के बाद धूल के कड़ों में फिर से वृद्धि देखने को मिली.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें