आगरा में तीन दिन बाद फिर बढ़ा प्रदूषण, एक्यूआई लेवल पहुंचा 253

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 05:11 PM IST
  • आगरा में तीन दिनों बाद हवा की गुणवत्ता फिर से बिगड़नी शुरू हो गई है. इस बात को लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सूची भी जारी की है, जिसमें आगरा के वायु गुणवत्ता सूचकांक के बारे में बताया गया है.
आगरा में बढ़ता जा रहा है प्रदूषण

आगरा.आगरा में दिवाली के बाद प्रदूषण में एकाएक वृद्धि हो गई थी. लेकिन दिवाली के अगले दिन ही बारिश होने के कारण वातावरण में नमी आ गई थी, जिससे मिट्टी के सूक्ष्म कण दब गए थे. ऐसे में आगरा में हवा भी धीरे-धीरे साफ हो गई थी. लेकिन अब स्थिति फिर पहले जैसी होनी शुरू हो गई है. दरअसल, आगरा में तीन दिनों बाद हवा की गुणवत्ता फिर से बिगड़नी शुरू हो गई है. इस बात को लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सूची भी जारी की है, जिसमें आगरा के वायु गुणवत्ता सूचकांक के बारे में बताया गया है.

आगरा में तीन दिनों बाद एक्यूआई फिर से 253 पर पहुंच गया, जो कि खराब क्षेणी है. बीते गुरुवार आगरा देश का 15वां सबसे प्रदूषित शहर रहा. वहीं, हरियाणा में फतेहाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा, जहां एक्यूआई लेवल भी करीब 355 दर्ज किया गया. इससे इतर उत्तर प्रदेश का ग्रेटर नोएडा राज्य का सबसे ज्यादा प्रदूषित क्षेत्र रहा, जहां एक्यूआई करीब 312 दर्ज किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रयण बोर्ड के मुताबिक अगले तीन दिनों में प्रदूषण फिर से बढ़ सकते हैं.

आगरा में बीकॉम की छात्रा का हुआ अपहरण, पुलिस ने परिजनों से लगवाए थाने के चक्कर

आगरा में प्रदूषण का कारण यहां के निर्माण कार्य के साथ-साथ यहां का कचरा भी है. दरअल, गुरुवार की सुबह आगरा किला और जामा मस्जिद के बीच पूरे पांच घंटे तक मंटोला नाले में भरी चमड़े की कतर और कचरा जलता रहा. बताया जा रहा है कि सुबह बिजलीघर से आगरा फोर्ट स्टेशन के बीच मंटोला नाले की पुलिया के नीचे कतरन में किसी ने आग लगा दी थी. ऐसे में जहरीला धुआं सुबह 11 बजे तक क्षेत्र में उड़ता रहा. इससे लोगों को सांस लेने में भी काफी परेशानी हुई. हालांकि, शिकायत करने पर चेन मशीन लगाकर पुलिया के नीचे की आग बुझाई गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें