आगरा न्यूज: बच्ची से रेप मामले में एक साल बाद फैसला, आरोपी को आजीवन कारावास

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 08:42 AM IST
  • थाना न्यू आगरा के दो साल की बच्ची के साथ रेप और पाक्सो एक्ट  मामलों में शुक्रवार को एक साल बाद फैसला आ गया है. विशेष न्यायधीश पाक्सो एक्ट वीके जायसवाल ने आरोपित भाईयों को दोषी पाया है. उन्हें कड़ी टिप्पणी करते हुए आरोपी होरी लाल उर्फ नरेश निवासी बलकेशवर को दुराचार और पाक्सों में आजीवन कारावास और दो लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है. वहीं पीड़िता की मां और बुआ से गाली गलौच और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में आरोपी के बड़े भाई नारायण को चार साल के कारावास और पांच हजार रुपए के कारावास से दण्डित किया गया है.
  • ताजगंज के नगलांकली इलाके में स्थित पुष्पांजलि ईको सिटी क्लब कालोनी निवासी संगीता की हत्या के लिए सिर्फ भरत खरे और उसके रिश्तेदार जिम्मेदार नहीं है, बल्कि भ्रष्ट पुलिस भी इसके लिए उतनी ही जिम्मेदार है. दरोगा ने रिटायर्ड फौजी अनिल को अवैध हिरासत में ही नहीं रखा था बल्कि घर छोड़ने से पहले 60 हजार रुपए बतौर रिश्वत वसूल किए थे. यह आरोप लगाते हुए पीड़ित अनिल ने डीएम प्रभु नारायण सिंह और एसएसपी बबलू कुमार के समक्ष शिकायत की हालांकि अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका है.
  • नौलखा जेडपीएस पर फीडर में मेन पाइप लाइन कनेक्शन करने के लिए नगर निगम 19 अक्टूबर को काम करेगा. इस वजह से जीवनी मंडी वाटर वर्क्स से लगभग आधे शहर की जलापूर्ति ठप रहेगी. जल निगम के अधिकारियों ने इस काम के लिए 20 घंटे का शटडाउन किया है लेकिन काम पूरा होने में और जल सप्लाई सामान्य होने में 24 घंटे से ज्यादा समय लग जाता है. इस दौरान नौलखा, मधु नगर, ताजगंज, आगरा कैंट, रकाब गंज, बालू गंज, ईदगाह और प्रतापुरा इलाके प्रभावित रहेंगे.
  • बृजपुरी रोड पर देर रात करीब साढे तीन बजे पुलिस की पशु चोरों से मुठभेड़ हो गई. पुलिस की गाड़ी में टक्कर मारने के बाद पशु चोर टाटा-407 लेकर फरार हो गए. टक्कर लगने से पुलिस की सूमो बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई. वहीं इलाके में एक अन्य स्थान से तीन भैंसें ले जा रहे पशु चोरों को पुलिस ने पकड़ लिया. दोनों घटनाओं के पुलिस ने अलग-अलग मुकद्दमे दर्ज कर लिए है.
  • कोविड-19 के साथ स्कूल खोलने की तैयारी चल रही है. 19 अक्टूबर से अलग-अलग क्षेत्रों के स्कूलों में 9वीं से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी आ सकेंगे. संयुक्त शिक्षा निदेशक डा. मुकेश अग्रवाल ने कई स्कूलों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को परखा. कोरोना के बचाव के सभी नियमों का पालन करने का भी उन्होंने निर्देश दिया. इसके साथ ही अभिभावकों की अनुमति होने पर ही छात्रों को स्कूल में प्रवेश मिलेगा, के भी उन्होंने निर्देश दिए.

सम्बंधित वीडियो गैलरी