आगरा में ताजमहल की खूबसूरती को प्रदूषण से बचाने के लिए मेयर ने शुरू किया अभियान

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 10:28 AM IST
प्रदूषण रोकने के लिए आगरा के मेयर ने मुहिम शुरू की है. इस कवायद का मकसद ताजमहल को प्रदूषण से बचाना है. इस अभियान के तहत सबसे पहले ताजमहल के यमुना किनारे लगी बड़ी जालियों पर घास लगाई जाएगी. ताजमहल के पास 20 किलोमीटर के क्षेत्र में सिर्फ इलेक्रिटक बसों को ही चलाए जाने की अनुमति होगी. इसके अलावा ताजमहल और उसके आसपास के क्षेत्र में 10 हजार पेड़ लगाने की भी योजना है. आगरा के मेयर नवीन जैन ने इस सारे अभियान के बारे में जानकारी दी. आगरा में प्रदूषण का कहर जारी है. हर दिन यहां सांस लेने लायक हवा कम होती जा रही है. आगरा में हवा की गुणवत्ता का स्तर लगातार गिरता जा रहा है. इसके साथ ही मेरठ सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाले शहरों में से एक है. इस वक्त मेरठ के जयभीमनगर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 290 दर्ज हुआ, जो खराब श्रेणी में है. पल्लवपुरम और गंगा नगर की हवा भी खराब श्रेणी में बनी हुई है. जिसका असर आसपासा के शहरों में भी पड़ रहा है. इसलिए आगरा प्रशासन ताजमहल की खूबसूरती को बचाने के लिए सतर्क हो गया है. अक्टूबर के 16 दिनों में मेरठ की हवा खराब श्रेणी में बनी हुई है. हवा की इस स्थिति से आने वाले दिनों की चिंता बढ़ने लगी है.                                                                                   आगरा में भी हालात बेहतर नहीं है और यहां भी आने वाले समय में प्रदूषण से राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे. जिसे लेकर प्रशासन ने कवायद शुरू की है. ताजमहल को प्रदूषण से बचाने के लिए पेड़ लगाकर पौधारोपण का अभियान छेड़ा जाएगा क्योंकि नवंबर में दिवाली और तापमान में गिरावट के कारण प्रदूषण की स्थिति चिंताजनक बन सकती है. इसके अलावा मेयर की ओर से कई और प्रयास किए जा रहे हैं, जिससे प्रदूषण से ताजमहल की खूबसूरती पर असन ना पड़े.

सम्बंधित वीडियो गैलरी