75 करोड़ खर्च कर MP सरकार मंगा रही अफ्रीकन चीते, कूनो पार्क में सुनाई देगी गुर्राहट

Ruchi Sharma, Last updated: Mon, 21st Feb 2022, 1:44 PM IST
  • मध्य प्रदेश में 20 अफ्रीकन चीतों को कूनो नेशनल पार्क में लाने की फाइल आगे बढ़ चुकी. सब कुछ ठीक रहा तो मार्च -अप्रैल में चीते भारत आ जाएंगे. जिसके बाद कूनो पालपुर अफ्रीकी चीतों के बसने वाला देशभर का पहला स्थान बन जाएगा. वहीं इनके रखरखाव में पांच साल तक 75 करोड़ रुपए खर्च होंगे.
प्रतीकात्मक तस्वीर

भोपाल. टाइगर स्टेट कहलाने वाले मध्य प्रदेश में अब जल्द ही अफ्रीकी चीतों की दहाड़ सुनाई देगी. मध्य प्रदेश के श्योपुर में स्थित कूनो पालपुर नेशनल पार्क में अफ्रीकन चीतों को बसाने की तैयारी शुरू हो गई है. 20 अफ्रीकन चीतों को कूनो नेशनल पार्क में लाने की फाइल आगे बढ़ चुकी है. प्रदेश के अफसरों की एक टीम दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया भी गई है, जो 25 फरवरी की रात लौटेगी. प्रतिनिधिमंडल 17 फरवरी को दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया रवाना हुआ था. सब कुछ ठीक रहा तो मार्च -अप्रैल में चीते भारत आ जाएंगे. जिसके बाद कूनो पालपुर अफ्रीकी चीतों के बसने वाला देशभर का पहला स्थान बन जाएगा.

इन चीतों के रखरखाव में खास ध्यान दिया जाएगा. वन विभाग के अनुसार 20 अफ्रीकी चीते दक्षिण अफ्रीका से ग्वालियर लाए जाएंगे. फिर यहां से सड़क मार्ग के जरिए इन्हें कूनो राष्ट्रीय पार्क ले जाया जाएगा. जानकारी के मुताबिक पांच साल तक इनके रखरखाव पर 75 करोड़ रुपए खर्च होंगे.

यूपी चुनाव: प्रियंका का लखनऊ में रोड शो, कहा- भाजपा सरकार से जनता बहुत त्रस्त है

कूनो पार्क 750 वर्ग किमी में फैला है

कूनो करीब 750 वर्ग किमी में फैला है जो चीतों के रहने के लिए यह अनुकूल है. हर चीते को 10 से 20 वर्ग किमी का क्षेत्र चाहिए, इस लिहाज़ से कूनो उनके प्रसार के लिए पर्याप्त जगह देता है. इस अभ्यारण्य का ज्यादा एरिया समतल है और पेड़ पौधे भी घने हैं. यही वजह है कि अफ्रीकी चीतों के लिए इसे उपयुक्त माना जा रहा है.

लालू यादव के स्टाइल में तेजस्वी ने रुकवाया काफिला, दुकान पर पहुंचकर लिया पान का मजा

तीन सालों से अटका रहा प्लान

चीतों को देश में लाने के लिए करीब 3 साल से प्रोजेक्ट चल रहा है. वर्ष 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी को इसकी मंजूरी दी थी. प्रयोग के लिए अफ्रीकन चीते भारत के जंगलों में लाए जाएंगे. वर्ष 2021 में प्रोजेक्ट ने फिर रफ्तार पकड़ी थी. पहले MP सरकार राज्य के स्थापना दिवस यानी 1 नवंबर को चीतों को कूनो नेशनल पार्क में लाना चाहती थी, लेकिन केंद्र सरकार से तारीख नहीं मिल पाई थी. जिसके चलते नहीं लाया जा सका.

10 नर व 10 मादा चीते लाए जाएंगे

श्योपुर के कूनो नेशनल पार्क में अफ्रीका से 20 चीते लाने का प्लान है. यह दो चरणों में लाए जाएंगे . दो चरण में 10 नर और 10 मादा चीते कूनो नेशनल पार्क में शिफ्ट कराने का प्लान है.

अन्य खबरें