शादीशुदा बेटी से अफेयर के शक में परिवार ने युवक को जिंदा जलाया

Somya Sri, Last updated: Fri, 17th Sep 2021, 5:31 PM IST
  • मध्य प्रदेश के सागर जिले में 25 वर्षीय राहुल यादव नामक व्यक्ति को परिवार के 4 लोगों ने मिलकर विवाहित बेटी के साथ अफेयर के आरोप में जिंदा जला दिया. पीड़ित सेमरा लहरिया का रहने वाला है. जिसे उसी गांव की 23 वर्षीय चंचल शर्मा से प्यार था.
शादीशुदा बेटी से अफेयर के शक में परिवार ने युवक को जिंदा जलाया (प्रतिकात्मक फोटो)

भोपाल: भोपाल के बुंदेलखंड से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है. जहां एक परिवार के 4 लोगों ने मिलकर विवाहित बेटी के प्रेमी को जिंदा जला दिया. मध्य प्रदेश के सागर जिले में गुरुवार को 25 वर्षीय राहुल यादव नामक व्यक्ति को जिंदा जला दिया गया. बताया जा रहा है कि पीड़ित सेमरा लहरिया का रहने वाला है. जिसे उसी गांव की 23 वर्षीय चंचल शर्मा से प्यार था.

पुलिस के मुताबिक गुरुवार को लड़की के पिता विष्णु शर्मा और उनके बेटों राघवेंद्र शर्मा और शुभम शर्मा और भतीजे दीपक शर्मा ने राहुल को पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी. राहुल को बचाने गई चंचल भी 60 प्रतिशत जल गई. जानकारी के मुताबिक घटना की जानकारी एक ग्रामीण ने पुलिस को दी. पुलिस जब वहां पहुंची तो विष्णु शर्मा ने पुलिस को बताया कि राहुल ने उसकी बेटी को आग लगाकर मारने की कोशिश की. जिस वजह से वह भी इस घटना में झुलस गया.

8 वीं के छात्र के साथ स्कूल में हुई मारपीट, परिजनों ने शिक्षिका पर लगाया आरोप

मौकें पर पहुंची पुलिस ने सबसे पहले दोनों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया. जहां से शुक्रवार की सुबह बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर रेफर कर दिया गया. पुलिस ने बताया कि मेडिकल कॉलेज पहुंचते ही राहुल की मौत हो गई और चंचल की हालत नाजुक बताई जा रही है. पुलिस का कहना है कि राहुल ने अपने मृत्यु से पहले बयान में कहा है कि चंचल के पिता विष्णु शर्मा, उनके बेटे दीपक, शुभम और राघवेंद्र ने हाथ बांधकर उसकी पिटाई की. फिर छत पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी. जिसके बाद उसे उसे एक गौशाला में फेंक दिया गया.

पुलिस ने कहा कि राहुल पिछले कई सालों से चंचल के साथ रिश्ते में था. चंचल के पिता विष्णु शर्मा, जो एक पूर्व ग्राम सरपंच हैं उन्होंने अपनी बेटी की जबरन शादी एक साल पहले जबलपुर में करवा दी थी. पुलिस ने बताया कि “चंचल कुछ दिन पहले अपने घर वापस आई थी। उसने गुरुवार रात राहुल को अपने घर पर किसी मामले पर बात करने के लिए बुलाया, लेकिन लड़की के परिवार वालों ने जब राहुल को देखा तो उसका हाथ बांधकर उसकी पिटाई कर दी. फिर बाद में उस पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दिया गया. पुलिस ने बताया कि राहुल की मौत को सुनिश्चित करने के लिए लड़की के घरवालों ने उसे छत से नीचे गिरा दिया.

मानवता की मिसाल बनीं इंदौर की डॉक्टर, मरने के बाद अंगदान कर बचाई कई जिंदगियां

इधर राहुल की मौत के खबर पर घरवालों के रो रो कर बुरा हाल है. राहुल के परिवार वालों ने पुलिस से सुरक्षा मांगी है. राहुल के चाचा उमाशंकर यादव ने कहा कि “हम छोटे किसान हैं. राहुल ने कुछ साल पहले अपने पिता को खो दिया था और वह अपनी मां और तीन बहनों की देखभाल करने वाले एकमात्र कमाने वाले सदस्य थे. वह सागर के एक फल बाजार में दिहाड़ी का काम करता था. हम चंचल के साथ उसकी दोस्ती के बारे में जानते थे, लेकिन उसकी शादी के बाद, उसने पैसे कमाने पर ध्यान देना शुरू कर दिया था." उन्होंने आगे कहा कि “गुरुवार की शाम को, राहुल ने मुझे सूचित किया था कि चंचल ही उसे आखिरी बार मिलने के लिए बुला रही थी. वह पिछले तीन दिनों से उसे फोन कर रही थी. राहुल उससे आखिरी बार मिलने के लिए वहां गया था, लेकिन हमें नहीं पता था कि वे उसे मार डालेंगे".

अन्य खबरें