भोपाल गैस त्रासदी के आरोपी केवी शेट्टी की मौत, 37 साल से पीड़ित परिवार कर रहे हैं न्याय की मांग

Swati Gautam, Last updated: Tue, 12th Oct 2021, 3:26 PM IST
  • 1984 में हुई भोपाल गैस त्रासदी के दूसरे दोषी केवी शेट्टी का 80 साल की उम्र में छह सितंबर 2021 को मौत हो गई है. केवी शेट्टी यूनियन कॉर्बाइड कंपनी में प्रोडक्शन मैनेजर था. मालूम हो कि मिथाइल आइसोनेट गैस के रिसाव के कारण तकरीबन 10 हजार से अधिक लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी.
भोपाल गैस त्रासदी के आरोपी केवी शेट्टी की मौत, 37 साल से पीड़ित परिवार कर रहे हैं न्याय की मांग

भोपाल. भोपाल गैस त्रासदी को याद करके आज भी भोपाल के लोगों का दिल सहम जाता है. यह 1984 की वह घटना है जिसमें मिथाइल आइसोनेट गैस के रिसाव के कारण तकरीबन 10 हजार से अधिक लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी. इस हादसे में दोषी पाए गए दूसरे आरोपी केवी शेट्टी का 80 साल की उम्र में मौत हो गई है. यह जानकारी भोपाल की एक अदालत ने दी. सत्र अदालत की सुनवाई के दौरान दोषियों के वकील अजय गुप्ता ने कहा कि शेट्टी का निधन छह सितंबर 2021 को हुआ है.

आरोपी केवी शेट्टी यूनियन कॉर्बाइड कंपनी में प्रोडक्शन मैनेजर था. वह इस मामले का दूसरा दोषी था. इससे पहले यूनियन कार्बाइड के कर्मचारी आरबी रॉय चौधरी की भी मौत हो चुकी है. वह असिस्टेंट वर्क्स मैनेजर था जिसका निधन 1988 में हुआ था. आरोपियों को हल्की सजा होने के बाद पीड़ितों में आक्रोश था. मामला बस चलता ही जा रहा था. आज सैंतीस साल बाद भी यह मामला कोर्ट में चल रहा है. दुनिया की सबसे भीषण औद्योगिक आपदा से बचे लोग अभी भी न्याय की तलाश में हैं.

भोपाल में कथित 'समाजसेवियों' ने मदद के नाम पर लड़की का किया गैंगरेप, 4 आरोपितों पर FIR

सात जून 2010 को एक निचली अदालत ने भोपाल गैस त्रासदी में आठ आरोपियों को आईपीसी की धारा 304 के तहत आपराधिक लापरवाही के लिए दोषी ठहराया था और उन्हें दो साल की सजा सुनाई थी लेकिन उसी दिन आरोपियों को कोर्ट से जमानत मिल गई थी. इस मामले में मुख्य दोषी, यूनियन कार्बाइड कॉरपोरेशन के तत्कालीन अध्यक्ष वॉरेन एंडरसन को बनाया गया था जिसकी सितंबर 2014 में यूएसए में मृत्यु हो गई.

अन्य खबरें