‘बुली बाई ऐप’ के मास्टरमाइंड नीरज बिश्नोई को VIT भोपाल कैंपस ने किया निलंबित

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 7th Jan 2022, 4:04 PM IST
  • बुली बाई ऐप का कथित मास्टरमाइंड और वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (VIT) भोपाल परिसर के छात्र नीरज बिश्नोई को कॉलेज ने निलंबित कर दिया है. आरोपी छात्र बिश्नोई को पुलिस ने असम के जोरहाट से गिरफ्तार किया था.
बुली बाई ऐप के कथित मास्टरमाइंड नीरज बिश्नोई को VIT भोपाल परिसर ने निलंबित कर दिया है.

भोपाल. (भाषा) वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (वीआईटी) भोपाल परिसर के छात्र नीरज बिश्नोई को कॉलेज से निलंबित कर दिया गया है. गौरतलब है कि नीरज बिश्नोई को विवादित ‘बुली बाई ऐप’ मामले का मास्टरमाइंड माना जा रहा है. पुलिस ने आरोपी छात्र को असम के जोरहाट से गिरफ्तार किया था.

वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (वीआईटी) भोपाल परिसर के छात्र बिश्नोई को पुलिस ने बृहस्पतिवार को असम के जोरहाट से गिरफ्तार किया था.

MP: भोपाल में बीटेक का छात्र निकला bulli bai app क्रिएटर, दिल्ली पुलिस ने असम से किया अरेस्ट

पुलिस ने कहा है कि 21 वर्षीय बिश्नोई इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता है और कथित तौर से विवादास्पद ऐप बनाने में शामिल है जिस पर कथित नीलामी के लिए सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट की गई थीं.

अधिकारी ने कहा कि मामले में बिश्नोई की संलिप्तता सामने आने के तुरंत बाद ही वीआईटी प्रशासन ने उसके खिलाफ कार्रवाई की.

वीआईटी, भोपाल परिसर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लगभग 100 किलोमीटर दूर सीहोर जिले में स्थित है.

उन्होंने कहा, ‘‘मीडिया के माध्यम से और बाद में सीहोर पुलिस से सूचना मिलने के तुरंत बाद हमने बिश्नोई को कॉलेज से निलंबित कर दिया. आगे क्या ब्योरा सामने आएगा, इसके आधार पर प्रबंधन अगली कार्रवाई करेगा.’’

सीहोर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव ने बताया कि कॉलेज अधिकारियों के मुताबिक बिश्नोई बीटेक पाठ्यक्रम में दूसरे वर्ष का छात्र है और अब तक उसने ऑनलाइन कक्षाएं ही ली हैं क्योंकि कोविड महामारी की वजह से ऑनलाइन कक्षाएं ही हो रही हैं.

उन्होंने बताया कि कॉलेज अधिकारियों के मुताबिक बिश्नोई प्रतिभाशाली छात्र है.

दिल्ली पुलिस ने कहा कि जोरहाट से बिश्नोई को राष्ट्रीय राजधानी लाया गया जहां उसने मामले में अपनी भूमिका स्वीकार कर ली है.

बिश्नोई की गिरफ्तारी के साथ दिल्ली पुलिस ने एक बयान में कहा कि उन्होंने गिटहब प्लेटफॉर्म पर होस्ट किए गए ‘बुली बाई ऐप’ से संबंधित मामले को सुलझा लिया है.

अन्य खबरें