कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, कहा- CM की छाती पर संविधान जलाकर राख उनकी आंखों में फेंक देंगे

Prachi Tandon, Last updated: Fri, 22nd Oct 2021, 7:21 AM IST
  • कांग्रेस विधायक बाबू जंदेल किसानों के मुआवजे में देरी को लेकर बोले- मुख्यमंत्री कार्रवाई नहीं करते हैं तो भारत के संविधान को उनकी छाती पर जला देंगे.
कांग्रेस विधायक बाबू जंदेल के बिगड़े बोल, कहा- सीएम कार्रवाई नहीं करते हैं तो जला देंगे संविधान.

भोपाल. मध्यप्रदेश के श्योपुर के कांग्रेस विधायक बाबू जंदेल के बुधवार को बोल बिगड़े नजर आए. विधायक बाबू चंदेल ने मध्य प्रदेश सरकार पर किसानों के मुआवजे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया. बाबू जंदेल ने सीएम की छाती पर संविधान को जलाने की धमकी दे डाली. इतना ही नहीं कांग्रेस विधायक ने नाराजगी में इतना तक कह दिया कि वह राख को सीएम की आंखों में डाल देंगे. बाबू जंदेल पर भारत के संविधान का कथित तौर से अपमान करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है.

मध्य प्रदेश पुलिस का कहना है कि कांग्रेस विधायक बाबू जंदेल बुधवार को फसल नुकसान मुआवजे में देरी होने की शिकायत लेकर किसानों के साथ कलेक्टर कार्यालय में अपना विरोध दर्ज कराने पहुंचे थे. विधायक बाबू जंदेल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर 'मुख्यमंत्री कार्रवाई नहीं करते हैं तो भारत का संविधान को सीएम के सीने पर जला देंगे और उसकी राख उनकी आंखों में फेंक देंगे.'

कांग्रेस विधायक के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए एमपी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, यह भारत के संविधान का अपमान है. कांग्रेस विधायक को भारत के संविधान में विश्वास ना हो लेकिन उन्हें इसका अपमान करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. नरोत्तम मिश्रा ने डीजीपी को उनके खिलाफ राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. श्योपुर कोतवाली थाना प्रभारी सतीश दुबे ने बताया कि गुरुवार की शाम को कांग्रेस विधायक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी दर्ज नहीं की गई है. 

धर्म बदलो तो 20 हजार महीना देंगे, ससुराल के ऑफर पर बीवी के खिलाफ थाना पहुंचा पति

वहीं कांग्रेस विधायक बाबू जंदेल ने संविधान के अपमान के आरोपों को खारिज किया है. जंदेल का कहना है कि उन्हें भारत के संविधान पर पूरा भरोसा है और वह भीमराव अंबेडकर का भी सम्मान करते हैं. उनका इरादा अपमान करने का नहीं था बल्कि राज्य सरकार और सीएम को कड़ा संदेश देना था. जो फसल नुकसान और बाढ़ से प्रभावित लोगों के पुनर्वास से संबंधित उनकी 300 शिकायतों का जवाब नहीं दे रहे हैं.

अन्य खबरें