इस बार अंधेरे में मन सकती MP की दिवाली! हड़ताल पर 70 हजार बिजली कर्मी

Shubham Bajpai, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 10:52 PM IST
  • मध्य प्रदेश में दिवाली से पहले मध्यप्रदेश बिजली बोर्ड के बिजली कर्मचारी डीए और वेतन वृद्धि की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. 1 नवंबर से शुरू इस हड़ताल की वजह से प्रदेश में दिवाली पर अंधेरे का संकट गहरा सकता है. इससे पहले सरकार के साथ कई दौर की वार्ता के बाद भी कोई निर्णय नहीं हुआ.
इस बार अंधेरे में मन सकती MP की दिवाली! हड़ताल पर 70 हजार बिजली कर्मी

भोपाल. मध्यप्रदेश में सरकारी पावर कंपनियों के कर्मचारियों ने मध्यप्रदेश यूनाइटेड फोरम के बैनर तले सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए है. अपनी पांच सूत्रीय मांगों को लेकर विभाग के 29 हजार नियमित, 6 हजार संविजा और 35 हजार आउट सोर्स कर्मचारियों ने 1 नवंबर से काम का बहिष्कार कर दिया. कर्मियों की इस हड़ताल से सबसे बड़ा संकट दिवाली के समय बिजली को लेकर हो सकता है. कर्मियों की हड़ताल की वजह से कई इलाकों में लोगों को दीवाली का त्योहार अंधेरे में मानना पड़ सकता है.

बता दें कि बिजली कर्मचारी काफी समय से डीए के भुगतान, वेतनवृद्धि, वेतन में बढ़ोतरी और दिवाली से पहले बोनस देने की मांग कर रहे थे. जिसको लेकर 31 अक्टूबर तक कर्मचारियों ने सरकार को अल्टीमेटम दिया था. उनकी मांगें पूरी न होने पर बिजली कर्मचारियों ने 1 नवंबर से काम का बहिष्कार कर दिया.

सरकारी नौकरी वालों को झटका, 50 साल में रिटायर करने की तैयारी में सरकार!

सीएम दे चुके आदेश लेकिन नहीं हो रहा अमल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहले ही बिजली कर्मचारियों का डीए बढ़ाने और वेतन में 50 फीसदी वेतन वृद्धि का आदेश दे चुके हैं, लेकिन अभी तक अमल नहीं होने के चलते कर्मचारी नाराज हैं. कर्मचारी 27 अक्टूबर को ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह के साथ बैठक कर चुके हैं लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला था.

मंगलसूत्र विज्ञापन मामला: नरोत्तम मिश्रा की चेतावनी का असर, सब्यासाची ने वापस लिया ऐड

कई बार बात करने पर मिला सिर्फ आश्वासन

हड़ताली कर्मचारी वीकेएस परिहार ने बताया कि राज्य सरकार ने बिजली कर्मचारी व इंजीनियरों ने अपनी मांगों को लेकर कई दौर की वार्ता की. हमने बिजली मंत्री और विभाग के प्रमुख सचिव से कई दौर मिलकर मांग पूरी करने की अपील की, लेकिन आश्वासन मिला लेकिन मांग पूरी नहीं हुई. जिसके चलते एमपीयूएफपीईई सरकारी बिजली कंपनी के कर्मियों के 11 संगठनों ने हड़ताल शुरू कर दी है. हमारी मांगों में डीए और वेतन वृद्धि के साथ संविदा इंजीनियरों और कर्मचारियों के लिए वेतन वृद्धि और डीए, और आउटसोर्सिंग के आधार पर लगे कर्मचारियों को दिवाली से पहले अक्टूबर के लिए बोनस और वेतन का भुगतान भी शामिल है.

 

अन्य खबरें