परिवार के बहिष्कार के बाद समाज में वापस आने को रखी शर्त, सिर पर जूते और पीयो...

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 2:00 PM IST
  • गुना में एक परिवार को वापस समाज में मिलाने के नाम पर पंचायत ने अजीब शर्त रखी. जिससे परेशान परिवार ने कलेक्टर से जनसुनवाई में अपनी शिकायत की. पीड़ित परिवार का कहना है कि मंदिर के लिए पूरी जमीन न देने पर बहिष्कार कर दिया और अब वापस समाज में लेने के लिए सिर में जूते रखने और गोमूत्र पीने की शर्त रखी है.
बहिष्कार के बाद समाज में वापस आने को रखी शर्त, सिर पर रखो जूते और पीयो गोमूत्र

भोपाल. मध्यप्रदेश के गुना में एक सामाजिक कुरीति से जूझ रहा परिवार मदद के लिए कलेक्टर के सामने जनसुनवाई में पहुंचा. परिवार का आरोप है कि उसको गांव में पंचायत ने समाज से बहिष्कार दे दिया है और अब शामिल होने के लिए शर्मसार करने वाली शर्त रख रहे हैं. जिसके बाद कलेक्टर फ्रैंक नोबल ने शिकायत सुनकर एसडीएम को तत्कारल मामले की जांच करने के निर्देश दिए.

मंदिर के लिए जमीन न देने पर किया बहिष्कार

पीड़ित परिवार के सदस्य हीरालाल घोषी का आरोप है कि उनके परिवार ने 3 बिसबा (4 हजार वर्गफीट) जमीन मंदिर को दान दे दी है, लेकिन गांव का ग्वाल समाज लगातार पूरी जमीन दान देने का दबाव बना रहे थे. मना करने पर उन्होंने पंचायत बुलाकर पूर् परिवार का गांव से बहिष्कार कर दिया. जिसके बाद कोई गांव का व्यक्ति हमारे कार्यक्रम में और न हम गांव के किसी कार्यक्रम में हिस्सा ले सकते हैं. हमारा मकान उस जमीन में बना हुआ है यदि उसको दान दे दिया तो मैं और मेरे भाई का घर भी चला जाएगा.

ससुर ने तलवार से काट दिए बहू के दोनों हाथ, 6 डॉक्टर ने 9 घंटे सर्जरी कर जोड़ी दोनों कलाइयां

समाज में शामिल होने को रखी ये शर्त

हीरालाल ने बताया कि पंचायत ने समाज में शामिल होने के लिए शर्मसार करने वाली शर्त रखी. जिसके अनुसार, हमें जूते सिर पर रखकर, पगड़ी पैरों में रख और गोमूत्र पीना होगा. जिसके बाद ही हम समाज में वापस शामिल होंगे, साथ ही परिवार के पुरुषों सदस्यों को दाढ़ी भी कटवानी होगी.

हैवान पिता की दास्तां, लव मैरिज से नाराज वहशी ने पहले बेटी का रेप किया फिर हत्या...

भाई के मरने और शादी में शामिल नहीं हुआ कोई

हीरालाल ने बताया कि समाज बहिष्कार के बाद मई में कोरोना से भाई की मौत हो गई और अभी कुछ समय पहले परिवार में एक शादी थी, लेकिन बहिष्कार के चलते समाज का कोई भी सदस्य कार्यक्रम में शामिल नहीं हुआ.

 

अन्य खबरें